Skip to content
Home » Charak Chikitsha Chapter 11 Kshatakshīna Chikitsha

Charak Chikitsha Chapter 11 Kshatakshīna Chikitsha

0%
1 votes, 1 avg
92

Charak Chikitsha Chapter 11 Kshatakshīna Chikitsha

1 / 69

सैंधवादि चूर्ण का रोगाधिकार
Rogadhikar of Saindhvadi Churna

2 / 69

रेतो वीर्यम् बलं पुष्टि तैराशुतरमाप्नुयात् किसकी फलश्रुति है
"Reto viryam balam pushti tairasitaramapnuyat" this phalashruti is mention for

3 / 69

कौन सा उरक्षत याप्य हो जाता है
Urakshata is Yapya when it is -

4 / 69

एलादि गुटिका की मात्रा है -
Dose of Elādi Gutikā is -

5 / 69

उरक्षत में यदि कास,पार्श्वास्थि शूल हो तो किसका प्रयोग करना चाहिए
What should be given in Urakshata when kasa & parshwashoola are present?

6 / 69

निम्न में से क्षतक्षीण का हेतु है -
Of the following, cause of kshat kshina is -

7 / 69

सर्पि गुड़ का प्रयोग किस विकार में किया जाता है ?
Sarpi guda is used in which disorder ?

8 / 69

एलादि गुटीका का परिमाण

9 / 69

आचार्य चरक के अनुसार क्षतक्षीण की उपेक्षा करने से उत्पन्न व्याधि है
According to Āchārya Charaka which disease appears if Kshata Kshīna is ignored

10 / 69

क्षतक्षीण चिकित्सा अध्याय मे कितने सर्पिगुड वर्णित है
Number of Sarpiguda in Khatakshina Chikitsa

11 / 69

महानदीं वा तरतो हयैर्वा सह धावत निदान किस व्याधि के सन्दर्भ में कहा गया है
"Māhānadim vā tarato hayairva sah dhāvata" Nidana for which Vyadhi ?

12 / 69

एलादि गुटिका में एला, तेजपत्र एवं दालचिनी की मात्रा क्रमशः है -
In Eladi Gutika, quantity of Ela, tejapatra & dalachini respectively is -

13 / 69

एक वर्ष पुराना उरक्षत है
One year old Urakhata is -

14 / 69

क्षतक्षीण की चिकित्सा में प्रयुक्त षाडव नामक योग में धनिया का प्रयुक्त प्रमाण कितना है
Quantity of Dhānyaka in the yoga called Shādava mentioned for treatment of Kshata Kshīna

15 / 69

रसादि धातुओं की वृद्घि किस सर्पिगुड के सेवन से होती है
Rasādi dhātu vriddhi occurs by intake of which sarpiguda

16 / 69

अमृतप्राश घृत का रोगाधिकार
Rogadhikara of Amrutaprasha Ghrita is -

17 / 69

उदारकीर्ति विशेषण से किस आचार्य को विभूषित किया गया है
"Udārakīrti" is used for which Āchārya

18 / 69

क्षतक्षीण में किस व्याधि के समान पथ्य निर्दिष्ट है ?
In kshatakshina, pathya is indicated similar to which disease ?

19 / 69

नागबला कल्प को प्रथम दिन कितनी मात्रा में प्रयोग करना चाहिए
Amount of Nagabalakalpa used on 1st Day :

20 / 69

कितने समय पुराना उरक्षत याप्य होता है
How much year old urakhata is Yapya ?

21 / 69

उरक्षत में यदि पार्श्व शूल और वस्ति शूल हो तो लाक्षा चूर्ण का अनुपान है
What is Anupāna of Lakshā chūrna if there is Pārshava shūla and Vasti shūla in Urakshata

22 / 69

उरक्षत में यदि जठराग्नि तीव्र हो तो लाक्षा,घृत,मोम को किस गण के साथ प्रयोग करना चाहिए
If Jatharāgni is tīvra in Urakshata then which gana should be used with Lākshā, Ghrita and Moma

23 / 69

नागबला कल्प सेवन काल में पथ्य है
What is Pathya during Nagabalakalpa sevana?

24 / 69

एलादि गुटिका निर्माण में तेजपत्र की मात्रा क्या है
How much amount of Tejapatra is used for Making Eladigutika ?

25 / 69

क्षतक्षीण चिकित्सा अध्यायोक्त षाडव चूर्ण मे अधिकतम मात्रा मे पाया जाता है
What is found in maximum quantity in Shadava chūrna mentioned in Kshata Kshīna Chikitsā Adhyāya

26 / 69

ज्वरो व्यथा मनोदैन्यं विड्भेदोSग्निवधादपि किस व्याधि का लक्षण है ?
"Jwaro vyatha manodainyam vidabhedo angivadhaapi" is the symptom of which disease ?

27 / 69

श्वदंष्ट्रादि घृत का रोगाधिकार है -
Rogadhikar of Shwadanshtradi ghrut is -

28 / 69

अव्यक्त लक्षण किस व्याधि का पूर्वरूप है ?
"Avyakta lakshan" is the purvaroop of which disease ?

29 / 69

निम्न में से उरक्षत का पूर्वरूप क्या है
Which of the following is Purvarupa of Urakshata ?

30 / 69

निम्न में से किस योग का सेवन पुत्रोत्पत्ति में सहायक है
Which of the following yoga is helpful in Putroutapati?

31 / 69

षाडव का रोगाधिकार क्या है ?
What is the rogādhikāra of Shādava ?

32 / 69

सैन्धवादि चूर्ण का रोगाधिकार है -
Rogādhikāra of Saindhavādi Chūrna is -

33 / 69

क्षतक्षीण में क्षय होने का क्रम है -
Sequence of kshay in kshatakshina is -

34 / 69

चरकोक्त क्षतक्षीण अध्याय में वर्णित योग "षाडव" में कौन सा घटक सर्वाधिक मात्रा में प्रयुक्त होता है
Which content is found in abundance in the yoga called Shādava in the Kshata Kshīna Adhyāya of Charaka

35 / 69

चरकानुसार क्षतक्षीणचिकित्साध्यायोक्त निम्न सर्पिगुड का घटक बकरे का मांसरस है
According to Charaka, which Sarpigudpa described in Kshatkshīna Chikitsā has the Māmsa

36 / 69

उर:क्षत की चिकित्सा है
Treatment of Urakshta-

37 / 69

वर्धमान नागबला कल्प के समान किसका प्रयोग करना चाहिए ?
Use of which of the following should be done similar to vardhaman nagabala kalpa ?

38 / 69

उरक्षत में प्रयोज्य लाक्षा चूर्ण का श्रेष्ठ अनुपान क्या है
What is Anupana used for laksha churna in Urakshta ?

39 / 69

अमृतप्राश घृत का रोगाधिकार
Rogadhikara of Amrutaprasha Ghrita is -

40 / 69

जो स्त्री गर्भधारण करना चाहती है , किन्तु जिसे बार-बार गर्भस्त्राव हो जाता है, उनके लिए आचार्य चरक ने किया बताया है ?
Āchārya Charaka has indicated which formulation for the females who suffer from miscarriages and desire conception ?

41 / 69

1 वर्ष पुराना क्षतक्षीण होता है
One year old kshatakshina is :

42 / 69

ओजक्षय किस व्याधि में मिलता है?
Ojakshaya is seen in which disease ?

43 / 69

आचार्य चरक के अनुसार एलादि गुटिका की मात्रा क्या है ?
What is the Mātrā of Elādi gutikā acc. to Acharya Charak ?

44 / 69

एलादि गुटिका निर्माण में प्रयुक्त तेजपत्र का प्रमाण है। चरक
How much amount of Tejpatra used for making Eladigutika ?

45 / 69

धात्रीफलाद्य घृत का वाताधिक्य की अवस्था में किस तरह प्रयोग करना चाहिए ?
How should dhatriphaladya ghrut be used in excess of vaat ?

46 / 69

चतुर्थ सर्पिगुड़ में घृत और शर्करा की मात्रा क्रमशः है -
In chaturtha sarpiguda, quantity of ghrut & sharkara respectively is -

47 / 69

सर्पिगुड़ किस व्याधि में उपयोगी है ?
Sarpiguda is useful in which disease ?

48 / 69

उर क्षत में यदि जठराग्नि तीव्र हो तो क्या प्रयोग किया जाता है
What is used if Jatharāgni is tivra in Ura Kshata

49 / 69

नागबला कल्प सेवन काल में केवल किसका सेवन करना चाहिए
What should be taken during Nagbalakalpa sevana ?

50 / 69

गुटिका तर्पणी वृष्या रक्तपित्तं च नाशयेत् किस गुटिका के सन्दर्भ में कहा गया है ?
"Gutika tarpani vrushya raktpittam ch nashyet" is said in relation for which Gutika ?

51 / 69

चरक अनुसार एलादि गुटिका का रोगाधिकार है -
According to Charak, rogadhikar of Eladi Gutika is -

52 / 69

उर क्षत में यदि रक्त की अतिप्रवृति हो जाए तो क्या प्रयुक्त होता है
What should be used if there is atipravriti of rakta in Ura Kshata

53 / 69

नागबलाकल्प का प्रयोग कितने समय तक करना चाहिए
Time Period of Nagabalakalpa sevana :

54 / 69

क्षतक्षीण में कफ का स्वरुप होता है -
Characteristic of kapha in kshatakshina is -

55 / 69

चरकानुसार एलादि गुटिका निर्माण में एला की मात्रा कितनी है
According to Charaka amount of Ela used in Eladigutika is :

56 / 69

चरक अनुसार क्षतक्षीण में लाक्षादि क्षीर का प्रयोग किस अवस्था में करते है ?
According to Charak, lakshadi kshir is used in kshat kshina in which condition ?

57 / 69

शुक्र,वीर्य,बलवर्धक और पुष्टिकर सर्पिगुड़ कौन सा है
Which Sarpiguda is Shukra,Virya,Balavardhaka,Pushtikara ?

58 / 69

नागबला कल्प विशेष रूप से निर्दिष्ट है
Nāgabalā kalpa is mainly indicated in -

59 / 69

सैन्धवादि चूर्ण लाभदायक होता है
Saindhavadi Churna is Beneficial in :

60 / 69

निम्न में से उर क्षत का लक्षण है
Which of the following is lakshna of urakshta ?

61 / 69

पुत्रदं किस घृत के लिए कहा गया है
Putradam word used for which Ghrita ?

62 / 69

क्षतक्षीण में प्रयुक्त अमृतप्राश घृत में घटक द्रव्य है -
Ghatak dravya of Amrutaprasha ghrut used in kshatakshina is -

63 / 69

नागबला कल्प सेवन में केवल .....प्रयोग करना चाहिये
What should be taken during Nagabalakalpa Sevana ?

64 / 69

द्वितीय सर्पिगुड का प्रथम द्रव्य है
First Drug of Second Sarpiguda

65 / 69

............ सरक्तमुत्रत्वं पार्श्वपृष्ठकटिग्रहः
".......... saraktamutratvam parshvaprushtha katigraha"

66 / 69

धात्रीफलाद्य घृत का पित्ताधिक्य की अवस्था में किस तरह प्रयोग करना चाहिए ?
How should dhatriphaladya ghrut be used in excess of pitta ?

67 / 69

उरोरुक् शोणितच्छर्दि:' किस रोग का लक्षण है
"Uroruka shonitachchardih" is symptom of which disease

68 / 69

चरकानुसार एलादि गुटिका प्रतिदिन कितनी सेवन करनी चाहिए
Dose of Eladigutika for Daily -According Charaka

69 / 69

अमृतप्राश घृत का रोगाधिकार है -
Rogādhikāra of Amrutaprāsha Ghruta is -

Your score is

The average score is 68%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

1 thought on “Charak Chikitsha Chapter 11 Kshatakshīna Chikitsha”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *