Skip to content
Home » Charak Chikitsha Chapter 25 Dwivraniya Chikitsha

Charak Chikitsha Chapter 25 Dwivraniya Chikitsha

0%
0 votes, 0 avg
25

Charak Chikitsha Chapter 25 Dwivraniya Chikitsha

1 / 114

चरक के अनुसार नानात्मज व्रण के प्रकार
Types of nānātamaja vrana

2 / 114

दकोदराणि संपक्का गुल्मा ये ये च रक्तजा - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Dakodarāni sampakvā gulmo ye cha raktajā" this has come in context of which shastra karma

3 / 114

चरकानुसार अग्नि कर्म निषिद्ध है
What is contraindicated for Agnikarma

4 / 114

चरकानुसार वातरक्त में कराना चाहिये
What is indicated in Vātarakta according to charaka

5 / 114

भूर्जग्रन्थ्यरमकासीसमधोभागानि गुग्गुलः - निम्न में से किस सन्दर्भ मे वर्णित है ?
"Bhūrjagranthyaramakāsīsamadhobhāgāni guggula" this is explained in context of

6 / 114

निम्न में से कौन सा कर्म कफज व्रण चिकित्सा में वर्णित है ?
Which of the following karma is explained in Kaphaja vrana chikitsā

7 / 114

व्रण के उपक्रम चरकानुसार
Upakrama of vrana according to charaka

8 / 114

अस्थि सन्धान विधि मे किस द्रव्य के द्वारा लिप्त पट् बांंधना चाहिए ?
Pata lipta with which dravya should be tied in asthi sandhāna vidhi

9 / 114

उत्संन्न , अनुत्सन्न - निम्न में से किसके भेद है ?
"Utsanna, anutsanna" are types of which of the following

10 / 114

स्त्रावैश्र्च पूतिकैः - निम्न में से किस व्रण की गन्ध है ?
"Srāvaishcha putikai" this is gandha of which vrana

11 / 114

निम्न मे से कौन से द्रव्य अग्नि कर्म के लिए उचित है ?
Which of the following dravya is best for agni karma

12 / 114

दुष्ट व्रण के भेद कितने हैं चरक)
Types of dushta vrana according to Charaka

13 / 114

कुक्ष्युदराद्यं तु गम्भीरं - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Kukshyudarādhyam tu gambhīram" this has come in context of which shastra karma

14 / 114

जलबस्तिसमस्पर्श - व्रण की किस अवस्था का श्लोक है ?
"Jalabastisamasparsha" is shloka of which avasthā of Vrana

15 / 114

व्रण के उपक्रम में कितने प्रकार के बन्धन वर्णित है ?
How many bandhana are explained in Vrana upakrama ?

16 / 114

मस्तुलुन्गात घन पीत पक्व कफ स्राव' किसका लक्षण है
"Mastulumgāta ghana pīta pakva kapha srāva" is symptom of

17 / 114

अयोरज सकासीस त्रिफलकुसुमानि उक्त लेप का कर्म है
"Ayoraja sakāsīsa triphalakusumāni" lepa is done in

18 / 114

चन्दनादि लेप का प्रयोग निम्न में से किस कर्म के लिए किया जाता है ?
Chandanādi lepa is used for which karma

19 / 114

न्यग्रोधादि क्वाथ का प्रयोग निम्न में से किस कर्म के लिए किया जाता है ?
Nyagrodhādi kvātha prayoga is done for which of the following karma

20 / 114

चरकानुसार व्रण के स्थान कितने हैं
Sthāna of vrana according to Charaka

21 / 114

चरक के अनुसार व्रण के उपक्रम में कितने प्रकार के शस्त्र कर्म वर्णित है ?
Number of shastra karma explained in vrana upakrama

22 / 114

चरक ने "कलविङ्ककपोतविट" का प्रयोग कहा है
Charaka advised use of "kalavimkakapotavita" in

23 / 114

चरकानुसार व्रण की किस अवस्था में रक्तमोक्षण करवाना चाहिए ?
Raktamokshana should be done in which avasthā of Vrana according to Charaka

24 / 114

.........यथास्वं स्वे चिकित्सिते किस संहिता में कहा गया है ?
".............tu chikitsate" is described for which Samhitā ?

25 / 114

व्रण के उपक्रम में किन गुणों से युक्त तैल वर्णित है ?
What should be guna of taila in Vrana upakrama

26 / 114

चरक अनुसार व्रण के उपद्रव है -
Upadrava of Vrana by Charaka are

27 / 114

किन कर्मों की जगह क्षार कर्म किया जा सकता है ?
Kshāra karma can be done in place of which karma

28 / 114

सूक्ष्मानना बहुस्त्रावाः कोषवन्तक्श्र्च ये व्रणाः - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Sūkshamānanā bahusrāvā koshavantakshcha ye vranah" this has come in context of which shastra karma

29 / 114

निम्न में से कौन सा युग्म गलत है ?
Which of the following pair is wrong

30 / 114

निम्न व्रणों के उत्सादनार्थ किस गण के द्रव्यों का प्रयोग वर्णित है ?
Which gana dravya should be used for Vrana Utsādanārtha

31 / 114

चरकानुसार निम्न में से व्रण का उपद्रव है
Which of the following is upadrava of vrana

32 / 114

तीन मुख्य मर्मो में निम्न में से क्या समाविष्ट है ?
Which of the following is included in three main marma ?

33 / 114

उपद्रव भेद से व्रण के प्रकार है
Types of Vrana by Upadrava

34 / 114

आचार्य चरक के द्वारा " यवचूर्णैः ससर्पिष्कैर्बहुशस्तान् " - इस लेप का वर्णन किस कर्म के लिए किया गया है ?
Acc. to Acharya charak "Yavachūranaih sasarpishkairbahushastān" this lepa is described for which karma ?

35 / 114

निम्न में से व्यध्य् रोग है
Which of the following is indicated for Vyadhana

36 / 114

रुधिरेअ्तिप्रवृत्ते - इस अवस्था में कौन सा कर्म वर्णित है ?
"RudhireAtipravrite" which karma is explained in this avasthā

37 / 114

निम्न में से किस रस के द्रव्यों का सेवन व्रणी व्यक्ति के लिए अपथ्य है ?
Which rasa sevana is apathya for vranī

38 / 114

उदवृत्तान् स्थूलपर्यन्तानुत्सन्नान् कठिनान् व्रणान - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Udvrittāna sthulaparyantānutsannāna kathināna vranāna" this has come for which shastra karma

39 / 114

एषण कर्म योग्य व्रण कौन से हैं।।

40 / 114

निम्न मे से कौन सा व्रण की गन्ध चरक द्वारा वर्णित नही है ?
Which of the gandha of vrana is not explained by Charaka

41 / 114

किन द्रव्यों से धूपन करने से व्रण कठिन हो जाते है ?
Dhūpana by which dravya makes Vrana kathina

42 / 114

अविदाहिभिन्नैश्र्च पैष्टिकैस्तमुपाचरेत् - किस विषय में वर्णित है ?
"Avidhāhibhinnaishcha paishtikaistamupāchreta" is explained for which vishaya

43 / 114

चरकानुसार शस्त्र कर्म कितने प्रकार के है -
Types of Shastra karma given by Charaka

44 / 114

मनशिलैला मंजिष्ठा लाक्षा च रजनीद्वयम। लेप कौन सा है
"Manahshilāle manjishthā lākshā cha rajnīdvayam" lepa is for

45 / 114

निम्न में से कौन सा युग्म गलत है ?
Which of the following pair is wrong

46 / 114

वातरक्त और कोठ निम्न शस्त्रकर्म योग्य है
Shastra karma advised for Vātarakta and kotha are

47 / 114

निम्न मे से कौन सा वातज व्रण का लक्षण नही है ?
Which of the following is not Lakshana of Vātaja vrana

48 / 114

शतधौत घृत का प्रयोग किस दोष युक्त व्रण मे करना चाहिए ?
Shatadhauta ghrita should be used in which dosha yukta vrana

49 / 114

चरक अनुसार व्रण परीक्षा कितनी है
Vegāna pariksha by charaka

50 / 114

किलासानि सकुष्ठानि - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Kilāsāni sakushthāni" this has come for which shastra karma

51 / 114

अस्थि सन्धान विधि का क्रम क्या है ?
Karma of Asthi Sandhāna vidhi

52 / 114

चरकानुसार व्रण के कितने स्थान हैं
Sthāna of vrana according to charaka

53 / 114

चरकानुसार अगम्भीर व्रण और कफ प्रधान व्रणों में दाह कर्म के लिए प्रयुक्त हैं
What should be used for dāha karma in agambhira vrana and kapha pradhāna vrana according to charaka

54 / 114

किलासानि सकुष्ठानि - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
Kilāsāni sakushthäni is said for which shastra

55 / 114

अशुद्ध व्रण पर किस प्रकार की चिकित्सा करनी चाहिए ?
What type of chikitsā should be done on ashuddha vrana

56 / 114

पिडिका में किस शस्त्र कर्म का प्रयोग वर्णित है ?
Use of which shastra karma is explained in pidikā

57 / 114

आयुर्वेद के आठ अंगों में से शल्यचिकित्सा का वर्णन चरक के किस अध्याय में किया गया है
Among ashtamga of ayurveda in which chapter did charaka mention Shalya chikitsā

58 / 114

चरक अनुसार एषण है -
According to Charaka, Eshana is -

59 / 114

चरक संहिता अनुसार व्रण के उपद्रव है
Upadrava of vrana according to charaka samhita

60 / 114

व्रण आच्छादन के लिए निम्न मे से किस पत्र का प्रयोग वर्णित है ?
Which of the following Patra is used for Vrana Āchchādana

61 / 114

चरकानुसार व्रण की कौन सी परीक्षा की जाती है
Which parikshā is done for vrana according to charaka

62 / 114

Types of Sraava

63 / 114

चरकानुसार किस व्याधि मे मानसिक ग्लानि विशेष हितकर नही है ?
Māmsala glāni is not beneficial in which disease according to Charaka

64 / 114

शुद्ध व्रण पर किस प्रकार की चिकित्सा करनी चाहिए ?
What type of chikitsā should be done on Shuddha vrana

65 / 114

चरकानुसार व्रण की परीक्षा कितने प्रकार से की जा सकती है
Examination of vrana can be done in how many days according to charaka

66 / 114

चरक संहिता में 'रसोत्तम'

67 / 114

चरकानुसार पाटन कर्म योग्य व्याधि है चरक
Pātana karma yogya vyādhi according to charaka

68 / 114

रुग्दाहरागतोदश्र्च विदग्धं " - व्रण की किस अवस्था का श्लोक है ?
"Rugdāharāgatodashcha vidagdham" is shloka if which avasthā of Vrana

69 / 114

चरकानुसार व्रण के दोष कितने हैं
Number of Vrana dosha by Charaka are

70 / 114

चतुष्पदानां त्वग्लोमखुरश्रृङ्गास्थिभस्मना - इस लेप का प्रयोग किस कर्म के लिये किया जाता है ?
"Chatushpadānām tvagalomakharashrimgāsthibhasmanā" this lepa is used for which karma

71 / 114

कुष्ठ रोग में किस शस्त्र कर्म का प्रयोग वर्णित है ?
Which Shastra karma is explained for Kushtha roga

72 / 114

व्रण के उपक्रम में कितने प्रकार के तैल वर्णित है ?
Number of taila explained in Vrana upakrama

73 / 114

व्रण मे दोष अल्प मात्रा में हो तो सर्वप्रथम क्या करना चाहिए ?
When doshas in Vrana are in Alpa mātrā then what should be done first

74 / 114

चरकानुसार व्रण बन्ध के प्रकार हैं
Types of vrana bandhana according to charaka

75 / 114

अर्शःप्रभृत्यधीमांसं - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Arshah prabhrityadhīmamsam" this has come in context of which shastra karma

76 / 114

आचार्य चरक के अनुसार " कुम्भी मुख " - निम्न में से किसके भेद है ?
Acc. to Acharya charak "Kumbhi mukha" is the type of ?

77 / 114

चरकानुसार पाटन कर्म योग्य व्याधि है
Disease indicated for pātana according to Charaka is

78 / 114

चरकानुसार वर्णित व्रण परीक्षा का क्रम क्या है ?
Krama of Vranita Vrana Parikshā according to Charaka

79 / 114

चरक अनुसार व्रण के उपद्रव की संख्या
Number of complications of vrana according to charaka

80 / 114

निम्न में से कौन सा युग्म गलत है ?
Which of the following pair is wrong

81 / 114

निम्न में से कौन सा कर्म वातज व्रण चिकित्सा में वर्णित है ?
Which of the following karma is explained in Vātaja Vrana chikitsā

82 / 114

वात प्रधान व्रणों मे किस द्रव्य से अग्नि कर्म करना चाहिए ?
Agni karma should be done which dravya in Vāta pradhāna vrana

83 / 114

चरक मतानुसार, दोषज व्रण की संख्या है -
Number of Doshaja Vrana according to Charaka are -

84 / 114

निम्न में से दुष्ट व्रण का भेद नही है
Which of the following is not the type of dushta vrana

85 / 114

सुकुमार व्यक्ति के पक्व शोथ के भेदनार्थ निम्न में से किस पशु-पक्षी की बिष्ठा का प्रयोग वर्णित है ?
Bishthā of which pashu pakshī for bhedana of pakva shotha of Sukumāra Vyakti

86 / 114

निम्न मे से कौन सा पित्तज व्रण का लक्षण नही है ?
Which of the following is not Lakshana of Pittaja Vrana

87 / 114

चरक अनुसार निम्न में से किसका समावेश शस्त्रकर्म में नहीं किया गया है ?
According to Charaka, which of the following is NOT included in Shastrakarma ?

88 / 114

लम्बानि व्रणमांसानि - इस अवस्था में सन्धान के लिए किस लेप का प्रयोग वर्णित है ?
"Lambāni vranamāmsāni" which laps is explained for Sandhāna in this avasthā

89 / 114

किस रोग की चिकित्सा में प्रच्छान कर्म का विधान है ?
Prachchhāna karma is indicated for the treatment of which disease ?

90 / 114

चरक चिकित्सा अध्याय 25 का नाम है
What us the name of the charaka chikitsā chapter 25?

91 / 114

लोध्रन्यग्रोधशुङ्गानि खदिरस्त्रिफला घृतम् - इन द्रव्यों का प्रयोग किस कर्म मे किया जाता है ?
"LodhraNyagrodhaShumgāni khadirastriphalā ghritam" these dravya are used for which karma

92 / 114

रक्तज और पित्तज व्रणों मे निम्न में से किसके द्वारा निर्वापण वर्णित है ?
Nirvāpana should be done with which of the following in raktajā and pittaja vrana

93 / 114

आचार्य चरक के अनुसार " अतिपिंजर " - निम्न में से किसके भेद है ?
Acc. to Acharya charak Atipimjara is the type of which ?

94 / 114

चरक ने एषण को माना है
According to Charaka Eshana is

95 / 114

निम्न में से कौन सा कर्म पित्तज व्रण चिकित्सा में वर्णित है ?
Which of the following karma is explained in pittaja vrana chikitsā

96 / 114

व्रण का पूर्वरूप किसे कहा गया है ?
Pūrvarūpa of Vrana is

97 / 114

गूढपूयलसीकेषु गम्भीरेषु स्थिरेषु च । क्लृप्तेषु चांड्गदेशेषु ...... - इस अवस्था में कौन सा चिकित्सीय कर्म वर्णित है ?
"Gudapūyalasīkeshu gambhīreshu sthireshu cha. Klripteshu chāmgadesheshu....." which chikitsā karma is advised in this avasthā

98 / 114

चरक ने अनुसार विस्तृत क्षत में कौनसा शस्त्रकर्म करना चाहिए ?
Which Shastra Karma should be done in Vistrita Kshata according to Charaka

99 / 114

निम्न मे से कौन सा कफज व्रण का लक्षण है ?
Which of the following is lakshana of Kaphaja Vrana

100 / 114

चरकानुसार गम्भीर विपाटित व्रणों में कौन सा शस्त्र कर्म करने का विधान है
Which shastra karma should be done in gambhīra avapātita vranā according to Charaka

101 / 114

चरकानुसार अग्निकर्म का निषेध किस व्रण में किया गया है
According to charaka, Agnikarma is contraindicated in

102 / 114

पक्व गुल्म है
Pakva gulma is

103 / 114

चरकानुसार एषणी कितनी प्रकार की होती है
How many types of Eshani are there as per Charaka

104 / 114

निम्न मे से कौन सा व्रण का स्थान चरक द्वारा वर्णित नही है ?
Which sthāna of Vrana is not explained by Charaka

105 / 114

उत्संगि , अनुत्संगी - निम्न में से किसके भेद है ?
"Utsamgi, anutsamgi" are types of which of the following

106 / 114

पूतिगन्धान् वावर्णाश्र्च बहुस्त्रावान्महारुजा - निम्न में से किसके लक्षण है ?
"Pūtigandhān vāvarnāshcha bahusrāvānmahārujā" is lakshana of which of the following

107 / 114

चरकानुसार व्रण के उपद्रव कितने हैं
Upadrava of vrana according to charaka

108 / 114

चरक अनुसार व्रणस्राव की संख्या
Number of vransrāva according to Charaka

109 / 114

वात प्रधान व्रण मे किस रस प्रधान द्रव्यों से सिद्ध घृत का प्रयोग करना चाहिए ?
Which rasa Pradhāna siddha ghrita should be given in Vāta pradhāna Vrana

110 / 114

स्तनयानि जीवनीयानि बृहंणीयानि यानि च - इनका वर्णन किस सन्दर्भ मे किया गया है ?
"Stanyāni jīvanīyāni brimhanīyāni yāni cha" this has been described in context of

111 / 114

मांसल प्रदेश में उत्पन्न गम्भीर व्रण का किस शलाका से ऐषण करना चाहिए ?
Eshana should be done with which shalākā if there is gambhīra vrana in māmsala pradesha

112 / 114

अतिपिंजर - निम्न में से किसके भेद है ?
"AtiPimjara" is the type of

113 / 114

व्रण की गन्ध कितने प्रकार की है
Types of smell in vrana

114 / 114

सूक्ष्माननाः कोषवन्तो ये व्रण - यह किस शस्त्र कर्म के विषय में आया है ?
"Sukshamānanāh koshavanto ye Vrana" this has come in context of which shastra karma

Your score is

The average score is 60%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *