Skip to content
Home » Charak Siddhi Chapter 6 Vamana Virechana Vyapat Siddhi

Charak Siddhi Chapter 6 Vamana Virechana Vyapat Siddhi

0%
0 votes, 0 avg
42

Charak Siddhi Chapter 6 Vamana Virechana Vyapat Siddhi

1 / 54

शोधन के अयोग होने पर व्यक्ति का किस द्रव्य से अभ्यंग करना चाहिए ?
Which dravya should be used for abhyanga if the patient is unable for shodhana

2 / 54

निम्न में से किस रोग में अतिस्नेहन होने पर विरेचन वर्ज्य है ।
Virechana is contraindicated in which disease due to atisnehana

3 / 54

चरक अनुसार तीक्ष्ण निरूह बस्ति से उत्पन्न परिकर्तिका की चिकित्सा में प्रयुक्त की जाती है ?
According to Charaka, which of the following treatment is used in Parikartikā originated from Tīkshna Nirūha Basti ?

4 / 54

प्रावृट किसे कहा गया है चरकानुसार
According to Charaka, prāvruta is said to whom ?

5 / 54

स्नेहन का प्रयोग कब कब करना चाहिए ?
When should Snehana be used
ed

6 / 54

निम्न में से स्नेह सम्बंदित कौन सा कथन सत्य है ?
The following statement is correct in relation to sneha ?

7 / 54

कथन 1.चरक सिद्धि अनुसार अजीर्ण अवस्था में संशोधन से व्यापत नही होते हैं । कथन 2.चरक सिद्धि अनुसार अजीर्ण अवस्था में संशोधन से व्यापत होते हैं ।
Statement 1- According to Charaka Siddhi, in condition of Ajīrna, Sanshodhana does not lead to Vyāpata. Statement 2- According to Charaka Siddhi, in condition of Ajīrna, Sanshodhana leads to Vyāpata.
ed

8 / 54

वमन करते हुए यदि रोगी की जिह्वा भीतर चली गई हो तो निम्न में से क्या चिकित्सा करनी चाहिए ?
During vamana, if the patient jihwāh has gone in than the treatment done is

9 / 54

चरक सिद्धिस्थान 6 मे किन विषयों का वर्णन किया गया है ?
Which subject is described in Charaka Siddhī 6

10 / 54

चरक अनुसार कुल विरेचन व्यापद होते है -
According to Charaka, total Virechana Vyāpada is -

11 / 54

आर्द्रं काष्ठं यथा वह्विर्विष्यन्दयति सर्वतः। तथा स्निग्धस्य वे दोषान् ........ विष्यन्दयेत् स्थिरान् - यह उपमा निम्न में से किस सन्दर्भ मे कही गई है ?
"Ārdram kāshtham yathā Vahnirvishyandayati sarvatah| Tathā Snigdha ve doshān.............. Vishyandet sthirān||" this is said in context of

12 / 54

अतितीक्ष्णं मृदौ कोष्ठे लघुदोषस्य भेषजम् । दोषान् हृत्वा विनिर्मथ्य .... - यह निम्न में से किसका निदान है ?
"Atitīkshanam mrudau koshthe laghu doshasya bheshajam| Doshān hrutvā vinirmathya......." Is the nidāna of which of the following

13 / 54

क्लिष्टं वासो यथोत्क्लेश्य मलः ...... अम्भसा - यह उपमा निम्न में से किस सन्दर्भ मे कही गई है ?
"Klishtam vāso yathottaram malah....... Ambhasā" this is said in context of

14 / 54

च. सिद्धिस्थान 6 मे औषधि की व्यापत्ति के कितने कारण कहे गए है ?
How many reasons are described for Aushadha vyāpatti in Charaka Siddhī 6

15 / 54

निम्न में से कौन सी ऋतुएँ संशोधन् की दृष्टि से सही है ?
Which of the following is the appropriate Ritu for samshodhana

16 / 54

चरक के अनुसार वमन व्यापद है :-
According to Charaka Vamana vyāpada are

17 / 54

वमन से पूर्व रोगी को किस प्रकार का आहार सेवन करवाना चाहिए ?
Which type of Āhāra is given to patient before vamana karma

18 / 54

वमन विरेचन के व्यापद क्लम का हेतु है
Cause of klama vyāpada of vamana virechana is -

19 / 54

चरक मतानुसार , निम्नोक्त किस व्याधि के सन्दर्भ में "नातिस्निग्धान विरेचयेत" के लिए निर्देशित है ?
As per Charaka, which of the following disease comes under the category of "Nātisnigdhān Virechayet" ?

20 / 54

चरक के अनुसार वमन व्यापद है -
According to Charaka, Vamana Vyāpada are -

21 / 54

निम्न में से " प्रावृट " मे कौन से मास आते है ?
In Prāvruta which of the following months comes

22 / 54

वमन विरेचन में औषध पाक के लक्ष्ण हैं
Symptom of aushadha pāka in vamana virechana is -

23 / 54

निम्न में से ऋतु और मास सम्बंदित कौन सा युग्म गलत है ?
Which of the following pair is wrong with respect to Ritu and months

24 / 54

वमन विरेचन की औषध के न पचने पर लक्षण हैं
If the aushadha of vamana virechana is not digested , then symptom is -

25 / 54

चरकानुसार कुल विरेचन व्यापद कितने है
Virechana Vyāpada according to Charaka

26 / 54

परिस्राव का लक्षण है
Symptom of paristrāva is -

27 / 54

संशोधन के द्वारा शुद्ध मनुष्य की अग्नि किस प्रकार की हो जाती है ?
Which type of Agni is gained by the person after Samshodhana

28 / 54

उदावर्तहर चिकित्सा वमन विरेचन के किस व्यापद में करते हैं ?
Udāvartahara treatment should be done in which vyāpada of Vamana virechana ?

29 / 54

निम्न में से " शरद ऋतु " मे कौन से मास आते है ?
Which of the following months comes under Sharada ritu

30 / 54

वमन के अतियोग में यदि जिह्वा बाहर निकल गयी हो तो क्या करें ?
What should be done if tongue comes out in atiyoga of vamana ?

31 / 54

विरेचक औषध देने पर भी विरेचन ना हो तो क्या किया जाना चाहिए ?
What should be done even if the purgation didnot happen while giving purgattive medicine

32 / 54

निम्न में से किस अवस्था मे रोगियों का अतिस्नेहन होने पर विरेचन वर्ज्य है ?
What is contraindicated in virechana

33 / 54

कथन 1.चरक सिद्धि अनुसार संशोधन व्यापद 12 हैं । कथन 2 .चरक सिद्धि अनुसार संशोधन व्यापद 10 हैं ।
Statement 1- According to Charaka Siddhi, Samshodhana Vyāpada are 12. Statement 2- According to Charaka Siddhi, Samshodhana Vyāpada are 10.

34 / 54

निम्न मे से किस अवस्था मे पुनः औषधि का प्रयोग नही करना चाहिए ?
In which of the following, repeat medicine is not given

35 / 54

विरेचन कर्म के उपद्रव है -
Upadrava of Virechana karma is -

36 / 54

जीव रक्त के निकलने की अवस्था में निम्न में से क्या चिकित्सा करनी चाहिए ?
Which of the following treatment should be done in the stage when Jīva rakta comes out

37 / 54

वमन मे किस क्रम मे दोष निकलते है ?
Sequence of Dosha in Vamana karma

38 / 54

कथन 1.चरक सिद्धि अनुसार घृत मण्ड से निर्मित अनुवासन बस्ति जीवादान में देनी चाहिए । कथन 2. सम्यक वमन होने पर जठराग्नि की वृद्धि होती हैं ।
Statement 1- According to Charaka Siddhi, Anuvāsana Basti formed from Ghruta Manda should be given in Jīvādāna. Statement 2- Jatharāgni increased in proper Vamana.

39 / 54

बृहणीयो विधि: सर्व: निम्न में से किस संशोधन के उपद्रव की चिकित्सा है
"Brihanīyo vidhi sarvah" is the treatment of which upadrava of samshodhāna

40 / 54

तर्पणादि क्रम का प्रयोग निम्न में से किस अवस्था में करना चाहिए ?
In which of the following stage Tarpanādi karma is done

41 / 54

पुष्पकासीस मिश्रित दाडिमसर्पि सेवन का उल्लेख किस संशोधन जन्य उपद्रव में है
Pushpakāsisa mixed with dādima sarpi has been advised to consume in which complication of Samshodhāna

42 / 54

वमन विरेचन के अतियोग में कौनसी चिकित्सा देनी चाहिए ?
What treatment should be given in excess of vamana and virechana ?

43 / 54

विभ्रंशं श्र्व्यथुं हिक्कां तमसो दर्शनं भृशम् - निम्न में से किससे उत्पन्न लक्षण है ?
"Vibhramsham shwyathu hikkām tamaso darshanam bhrusham" is the lakshana of

44 / 54

यदि वमन के अतियोग से जिह्वा बाहर की ओर निकल आई हो तो क्या देना चाहिए
If the tongue protrudes out as a result of atiyoga of Vamana, then what should be the treatment given

45 / 54

पिण्डिकोद्वेष्टनं कण्डूमूर्वोः सादं विवर्णताम् - निम्न में से किससे उत्पन्न लक्षण है ?
"Pindakodveshtanam kandūmūrvoh sādam vivarnatām" is the lakshana of

46 / 54

अजीर्ण पर संशोधन सेवन करने पर निम्न में से कौन सी हानि होती है ?
If samshodhana is given on Ajīrna, then which disease is likely to happen

47 / 54

चरक के अनुसार यदि विरेचन का अतियोग हो तो क्या करना चाहिए
What should be done in atiyoga of virechana according to Charaka

48 / 54

लघुपाकं सुखास्वादं प्रीणनं व्याधिनाशनम् - निम्न मे से किसके गुण है ?
"Laghupākam sukhāswādam prīnanam Vyādhi nāshanam" is the Guna of which of the following

49 / 54

निम्न में से " बसन्त ऋतु " मे कौन से मास आते है ?
Which of the following months comes under Vasanta ritu

50 / 54

विरेचन व्यापद की संख्या
Number of Virechana Vyāpada

51 / 54

संशोधन के अयोग होने पर पुनः स्वेदन के बाद व्यक्ति का किस विधि से स्वेदन किया जाना चाहिए ?
Which type of swedana is used in the person which is not suitable for samshodhana after repeat swedana

52 / 54

वमन विरेचन के व्यापद क्लम की चिकित्सा क्या है ?
What is the treatment of klama vyāpada of Vamana virechana ?

53 / 54

विरेचन मे किस क्रम मे दोष निकलते है ?
Sequence of Dosha in virechana

54 / 54

घृत मण्ड से निर्मित अनुवासन बस्ति किस अवस्था में दी जाती है
Anuvāsana Bastī prepared from ghrita manda is given in

Your score is

The average score is 73%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *