Skip to content
Home » Charak Sutra 20 Maharog Adhayay

Charak Sutra 20 Maharog Adhayay

0%
1 votes, 5 avg
47

Charak Sutra 20 Maharog Adhayay

1 / 93

जीवादान है
Jīādāna is

2 / 93

तमः प्रवेश - कौन सा नानात्मज विकार है?
"Tamah Praesha" is the Nānātmaja disease of which Dosha

3 / 93

रोगों का रोगत्व कितने प्रकार का है ?
"Rogata of Roga" is of how much types

4 / 93

पूर्वं वैषम्यमापद्यन्ते , जघन्यं व्यथामभिनिर्वर्तयन्ति - यह किस सन्दर्भ मे आया है ?
"Pūram aishmyamāpādhyante, Jaghanyam yathāmabhinirartyanti" is in the reference of

5 / 93

निम्न मे से क्या कफ का स्थान नही है ?
Which of the following is not the site of kapha

6 / 93

भ्रुव्यूदास कौन सी व्याधि है
"Bhruyūdāsa" is

7 / 93

चरकानुसार पित्त का विशेष स्थान है
ishesh sthāna of pitta as per charaka

8 / 93

निम्न मे से कौन सा कफ नानात्मज विकार नही है ?
Which of the following is not the kaphaja Nānātmaja disease

9 / 93

पहले दोष प्रकोप होकर पश्चात् वेदना होना किन व्याधियों के लिए कहा गया है ?
First dosh prakop followed by edanā is said for which diseases ?

10 / 93

तिमिर किस नानात्मज विकार के अन्तर्गत आता है ?
Timir

11 / 93

भ्रम , " वेपथु"- किस दोष के नानात्मज विकार है ?
"Bhrama and epathu" are the Nānātmaja disease of which dosha

12 / 93

निम्न मे से क्या वात के स्थान नही है ?
Which of the following is not the site of āta

13 / 93

वात का स्थान है

14 / 93

यस्तु रोगमविज्ञाय कर्माण्यारभवे । अप्यौषधविधानज्ञस्तस्य ......।। - यह किस विषय में कहा गया है ?
"Yastu Rogamijnāya karmānyārabhae | Apyaushadaidhānajnastasya ||" Is said in the reference of

15 / 93

रोगमादौ परीक्षेत ततो अनन्तरं औषधम्' का सन्दर्भ
"Rogamādau parīksheta tato anantarama aushadham" find the correct reference

16 / 93

अभिघात , अभिषंग और अभिचार - किन रोगों के निदान है ?
Abhighāta, Abhishamga and Abhichāra are the nidāna of which

17 / 93

चरकानुसार वात का विशेष स्थान है
ishesha sthāna of āta as per charaka

18 / 93

कामला कौन सा विकार है
Kāmalā is which type of disease?

19 / 93

तृप्ति'क्या है
"Tripti" is

20 / 93

पित्त का रस कौन सा है ?
Rasa of Pitta is

21 / 93

व्यथापूर्व समुत्पन्नो जघन्यं वात पित्तश्लेष्मणां वैष्म्यमापादयति - यह किस विषय में कहा गया है?
"yathāpūra Samaotpanno Jaghanyam āta pittashleshmānām aishmyamāpādayati" is said in the subject of

22 / 93

निम्न में से कफ दोष का सही चिकित्सा उपक्रम क्या है ?
Which is the correct order of treatment of kapha dosha ?
ed

23 / 93

तिमिर रोग किस वर्ग की व्याधि है ?
Timira is the disease of which category ?

24 / 93

हाथ , पैर औऱ कन्धों मे जलन होने की अवस्था को क्या कहते है ?
Burning sensation in upper limbs, lower limbs and shoulders is known as

25 / 93

श्यावारूणावभासता - किस दोष का नानात्मज विकार है ?
"Shyāārunābhāsatā" is the Nānātmaja disease of which Dosha

26 / 93

निम्न में से पित्त नानात्मज विकार है
Which one is a pitta nānātamaja ikāra

27 / 93

उदर्द किस प्रकार का ननात्मज रोग है
Udarda belongs to which Nanatamaja roga

28 / 93

घ्राण नाश - कौन सा नानात्मज विकार है ?
"Ghrānanāsha" is the Nānātmaja disease of which Dosha

29 / 93

तम किस नानात्मज विकार के अंतर्गत आता है ?
Tama

30 / 93

विरेचनं तु सर्वोपक्रमेभ्यःपित्ते प्रधानतम् मन यन्ते - यह किस विषय मे आया है ?
"irechana Tu Saropkramebhyah Pitte Pradhāntam Mana Yante" is in the context of

31 / 93

सम्पूर्ण शरीर में स्वेद और बैचेनी को क्या कहते है ?
Sweating and Uneasyness in whole body is called

32 / 93

यदृच्छा सिद्धि - का वर्णन चरक मे किस अध्याय में आता है ?
"Yadruchchhā Siddhi" is described in which Chapter of Charaka

33 / 93

चरक अनुसार वात का विशेष स्थान है -
ishesh Sthana of ata by Charaka

34 / 93

अनवस्थित चित्त कौन सा विकार है
Anaasthita chitta is which disease

35 / 93

अंङ्गगन्धश्र्च - किस दोष का नानात्मज विकार है ?
"Amgagamdhascha" is the Nānātmaja disease of which Dosha

36 / 93

चक्रपाणि अनुसार धमनी प्रतिचय है
According to chakrapāni dhamani pratichaya is

37 / 93

निम्न में से कफ नानात्मज विकार है
Which of the following is a kapha nānātamaja ikāra?

38 / 93

गुद भ्रंश है
Guda bhramsha is

39 / 93

निम्न मे से कौन से लक्षण वात के है ?
Which of the following is the symptoms of āta

40 / 93

उरुस्तम्भ किस दोष का नानात्मज विकार है ?
Urūstambha is the Nānātmaja disease of which Dosha

41 / 93

चरक सूत्र 20 मे रोग कितने प्रकार के कहे गये है ?
How many types of Roga are described in Charaka sūtra 20

42 / 93

तिक्तास्यता किस दोष का नानात्मज विकार है
Tiktāsayatā is which dosha nānātamaja ikāra

43 / 93

कषायास्यता - किस दोष का नानात्मज विकार है ?
"Kashāyāshyatā" is the Nānātmaja disease of which Dosha

44 / 93

आगन्तुज और निज रोगों के बाहरी हेतु/कारण कितने प्रकार के है ?
How amby type of external reason are for Āgantuja and Nija diseases

45 / 93

प्रकृतिभूताः शुभान्युपचयबलवर्णप्रसादादीनि - यह किस सन्दर्भ मे कहा गया है ?
"Prakrutibhūtāh Shubhānyupchayabalaarnaprasādādīni" is the reference of

46 / 93

यस्य श्लेष्मा प्रकुपित: व्यवतिष्ठते। - गलशुण्डि का यह श्लोक पूरा करें
Yasya shleshma prakupitah yaatishthate Complete the stanza for galashumdikā

47 / 93

पित्तज नानात्मज विकारो की संख्या है -
Number of Pitta nanatmaja ikaara are

48 / 93

विड भेद कौन सा नानात्मज विकार है
ida bheda is which nānātamaja ikāra

49 / 93

कक्षा कौन सा नानात्मज रोग है
Kakshā is which nānātamaja roga

50 / 93

अधिष्ठान भेद से रोगों के भेद
Types of roga on the basis of adhishthāna

51 / 93

अस्वप्न है
Asapna is

52 / 93

भिन्ने केदारसेतौशालियवषष्टिकादीन्यनभिष्यन्द्यमानान्यम्भसा प्रशोषमापद्यन्ते तद्वदिति - यह किस विषय में कहा गया है ?
"Bhinne Kedārasetaushāliyaashashtikādīnyanabhishyandyamānānyambhasā Prashoshamāpadhyante Tadditi" is in the context of

53 / 93

इन्द्रियों मे जलन को क्या कहते है ?
Burning sensation in Indrīyas is called

54 / 93

परिषेक यह उपक्रम निम्न में से किन किन दोषो की चिकित्सार्थ उपयुक्त होता है ?
"Parishek" upkrama is used for the treatment of which dosha ?

55 / 93

रोग की द्विविध प्रकृति है
Diidha prakriti of roga is

56 / 93

वात दोष की चिकित्सा में कौन सी वस्ति प्रयुक्त होती है ?
Which Bastī is indicated in the treatment of āta

57 / 93

हृद्द्रव नानात्मज विकार है
Hridadraa is

58 / 93

चरक अनुसार "चर्मदल" है -
According to Charaka , "Charma dala" is -

59 / 93

केशभूमिस्फुटन - किस दोष का नानात्मज विकार है ?
"Keshabhūmisphutana" is the Nānātmaja disease of which Dosha

60 / 93

तिमिर रोग किस वर्ग की व्याधि है -
Timira roga is yādhi of which arga

61 / 93

चरकानुसार पित्त की चिकित्सा का रस क्रम क्या है
Rasa sequence for the treatment of pitta according to Charaka is

62 / 93

यस्तु रोगविशेषज्ञः सर्वभैषज्यकोविदः । देश कालप्रमाणज्ञस्तस्य सिद्धि रसंशयम् ।। - यह किस सन्दर्भ मे कहा गया है ?
"Yastu Rogaisheshajnah Sarabhaishajyakoidah| Deshkālapramānajnastasya Siddhi Rasa Samsatāpo is said in the context of

63 / 93

पर्व किस दोष का अधिष्ठान है
Para is adhishthāna of which dosha

64 / 93

नानात्मज विकार का वर्णन चरक ने किस अध्याय में किया है ?
Nanatamaja ikara has been described in which chapter by Charaka

65 / 93

यथा वनस्पतेर्मूले छिन्ने स्कन्धशाखाप्ररोहकुसुमफलपलाशादीनां नियतो विनाश स्तद्वत - यह किस सन्दर्भ मे कहा गया है ?
"Yathā anaspatemūle Chhine Skandhashākhāprarohakusumphalaplāshādinām Niyato ināsha Stadata" is in the context of

66 / 93

वातज नानात्मज विकार की संख्या है -
Number of ātaja nānātmaja disorders is -

67 / 93

निम्न मे से क्या कफ नानात्मज विकार नही है ?
Which of the following is not the Kaphaja Nānātmaja disease

68 / 93

निम्न मे से कौन सा पित्त नानात्मज विकार नही है ?
Which of the following is not the Pittaja Nānātmaja disease ?

69 / 93

चरकानुसार कफ का विशेष स्थान क्या है
ishesh sthāna of kapha according to charaka?

70 / 93

पित्‍तज रोगों में औषध द्रव्‍य के रसानुसार प्रयोग क्रम क्या है ?
In what sequence aushadha draya rasa should be used in pittaja roga

71 / 93

अतृप्ति है
Atripati is

72 / 93

निम्न में पित्तज नानात्मज विकार है
Which if the following is a pitta nānātamaja ikāra

73 / 93

अंगावदरण किस दोष की नानात्मज व्याधि है
Angāadarana is nānātamaja disease of which dosha

74 / 93

निम्न मे से क्या पित्त का स्थान नही है ?
Which of the following is not the site for Pitta

75 / 93

अक्षिव्युदासश्च है
Akshiyudāsashch is

76 / 93

रोगमादौ परीक्षेत ततोन्तरम् औषधं किस आचार्य ने कहा है
"Rogamādau parīksheta tatoanantarama aushadhama" is the quote of which āchārya?

77 / 93

कफज नानात्मज विकारों की संख्या है -
Number of Kapha nanatamaja ikara are

78 / 93

कुपित कफ की चिकित्सा में किन रसों का सेवन किया जाता है ?
Which rasa seana is indicated in the treatment of Kupita Kapha

79 / 93

तिमिर' यह निम्न में से किस नानात्मज व्याधि के अंतर्गत आता है ?
"Timira" comes under which nānātmaja yādhi ?

80 / 93

नतिस्नेहो वर्णश्र्च शुक्लारूणवर्जो - यह किस सन्दर्भ मे आया है ?
"Nātisneho arnascha Shuklārunaarjo" is in the context of

81 / 93

रोग की प्रकृति कितने प्रकार की होती है
How many types of roga prakriti are there?

82 / 93

रोगों का एक प्रकार किसके सामान्य से होता है
One type of disease due to a common factor is

83 / 93

गलगंड किसकी नानात्मज व्याधि है
Galaganda is which nānātamaja ikāra

84 / 93

त्वक् अवदरण कौनसा नानात्मज विकार है
Taka aadārana is which nānātamaja ikāra

85 / 93

यस्तु रोगविशेषज्ञः सर्वभैषज्यकोविदः । देश कालप्रमाणज्ञस्तस्य सिद्धि रसंशयम् ।। - इस श्लोक का रेफरेन्स बताये ?
"Yastu Rogaisheshajnah Sarabhaishajyakoidah| Deshkālapramānajnastasya Siddhi Rasa Samsatāpo is in the reference of

86 / 93

लोहितगन्धास्यता - कौन से दोष का नानात्मज विकार है ?
"Lohitagamdhasyatā" is the Nānātmaja disease of which Dosha

87 / 93

निम्न मे से किसके विकल्प अपरिसंख्य है ?
Which of the following has infinite options

88 / 93

चरक के अनुसार वात का विशेष स्थान क्या है
ishesh sthāna of āta as per charaka

89 / 93

अतृप्तिश्च - किस दोष का नानात्मज विकार है ?
"Atruptischa" is the Nānātmaja disease of which Dosha

90 / 93

शीताग्निता कौनसा नानात्मज विकार है
Shītāgnitā is which nānātamaja ikāra

91 / 93

अरसज्ञता - कौन सा नानात्मज विकार है ?
"Arasajnatā" is the Nānātmaja disease of which Dosha

92 / 93

अशब्द श्रवण - कौन सा नानात्मज विकार है ?
"Ashabda Shraana" is the Nānātmaja disease of which Dosha

93 / 93

नानात्मज कफज विकार नही है
Which one is not a Kaphaja nānātamaja ikāra

Your score is

The average score is 69%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *