Skip to content
Home » Charak Sutra 9 Khuddash Chatushpad Adhayay

Charak Sutra 9 Khuddash Chatushpad Adhayay

0%
2 votes, 5 avg
93

Charak Sutra 9 Khuddash Chatushpad Adhayay

1 / 46

उत्तम वैद्य के गुण हैं
Qualities of best Vaidhya

2 / 46

निम्नलिखित में से कौनसा वर्ग गुण या दोष उत्पन्न करने के लिए पात्र की अपेक्षा करता है ?
Which of the following section requires a character to produce Guna and deformities

3 / 46

किस चतुष्क का प्रथम अध्याय 'खुड्डाकचतुष्पाद' अध्याय है
First chapter of which chatushka is "Khuddāka Chatushpāda"

4 / 46

खुड्डाक शब्द का अर्थ है
What does word "Khuddāka" mean

5 / 46

विकारो धातु वैषम्यं साम्यं प्रकृतिरुच्यते Is the reference taken from
"Vikāro Dhātu Vaishamyam sāmyam prakrutiruchyate" is the reference of

6 / 46

प्राणाभिसर वैद्य की प्रवृति किस विधि में होती है
Pravriti of Prānābhisara Vaidhya is known by

7 / 46

पाद त्रय से क्या वर्णित है ?
Which is described by Pāda Traya

8 / 46

वैद्य की प्रधानता का क्या कारण है
Reason of Vaidhya pradhānatā is

9 / 46

चक्रपाणि के अनुसार प्राणाभिसर का तात्पर्य क्या है
What does Prānābhisara mean according to Chakrapāni

10 / 46

उत्तम वैद्य के कितने गुण होते है
Uttam Vaidya ke guna are

11 / 46

शास्त्रं ज्योति: प्रकाशनार्थ दर्शनं बुद्धिरात्मान: - कहाँ का सन्दर्भ है ?
"Shāstram Jyotih Prakāshanārtham Darshanam Buddhirātmanah" is the reference of
ed

12 / 46

वरमात्मा हुतोsज्ञेन न चिकित्सा प्रवर्तिता यह किसके सन्दर्भ मे कहा गया है ?
"Varamātmā hutoajnena na chikitshā pravartitā" is said in the context of

13 / 46

चरक अनुसार चिकित्सा के चतुष्पाद का क्रम क्या है ?
According to charaka sequence of chatushpāda of chikitshā is

14 / 46

युद्ध में विजय प्राप्ति की इच्छा से प्रवृत्त सेनापति की तुलना किसके साथ कि गयी है ?
Comparison of the commander desperate For getting victory in battel field is made with
ed

15 / 46

प्रवृति:धातुसाम्यार्था is
"Pravrutidhāsāmyārthā" is

16 / 46

निम्न में से वैद्य की वृति नही है
Which of the following is not vaidhya vriti

17 / 46

प्राणाभिसार वैद्य कितने कर्मों में तत्पर रहता है ?
Prānābhisāra Vaidhya is ready for how many karma

18 / 46

चरक सूत्रस्थान 9 मे उत्तम वैद्य गुण कितने कहे गए है?
How many types of Shubha Guna is said in Charaka sūtra 9

19 / 46

चिकित्सा चतुष्पाद में "स्मृतिनिर्देशकारित्वं" किसका गुण है
"Smriti nirdesha kāritvam" is guna of which among the Chikitsā Chatushpāda

20 / 46

चिकित्सा चतुष्पाद में किसकी प्रधानता स्वीकार की गयी है
Who is pradhāna among chikitsā chatushpāda

21 / 46

निम्न में से कौन सा गुण परिचारक का नही है
Which of the following is not a guna of parichāraka

22 / 46

चिकित्सा का चतुष्पाद कितने गुणों से युक्त है ?
How many qualities does chatushpāda of chikitshā have

23 / 46

दाक्ष्य एवं शौच गुण निम्न में से किसके हैं
Dākshya and shaucha are guna of which of the following

24 / 46

श्रुते पर्यावदातत्वम् is guna of
"Shrutēpaṛyāvadātavyama" is the guna of-

25 / 46

प्रकृति विकृति का तात्पर्य है
What does prakriti vikriti mean

26 / 46

चिकित्सा चतुष्पाद का तात्पर्य है
What does Chikitsā Chatushpāda mean

27 / 46

कितने विषयों का ज्ञान रखने वाला वैद्य राज वैद्य होने योग्य होता है ?
Vaidhya having Knowledge of how many subjects is known as Rāja Vaidhya

28 / 46

पात्र की अपेक्षा किसे होती है
Pātra apekshā krita

29 / 46

उत्तम वैद्य के गुण हैं
Properties of Best Guna are

30 / 46

तस्माच्छास्त्रेऽर्थविज्ञाने प्रवृत्तौ कर्मदर्शने। यह किसका लक्षण है
"Tasmātashāstre arthavijnāne pravritau karmadarshane" this is symptom of

31 / 46

दाक्ष्य एवम् शौच गुण किसका नही है
Dākshya and Shaucha is not the guna of

32 / 46

चरक के अनुसार उत्तम वैद्य का गुण नही है
According to charaka, which of the following is not the Quality of Uttama Vaidhya

33 / 46

निम्न में से ज्ञापक किसका गुण है ?
Gnāpaka is the quality of which of the following ?

34 / 46

स्मृतिनिर्देशकारित्वं अभीरुत्वं किसका गुण है
"Smriti nirdeshakāritvam abhīrutvam" is guna of

35 / 46

किस बुद्धि को ब्राह्मी बुद्धि कहा गया है
Which buddhi is called Brāhmī buddhi
ed

36 / 46

चरक अनुसार निम्न में से वैद्य की वृत्ति में शामिल नहीं है ?
According to Charaka , of the following, not included in vritti of vaidya -

37 / 46

हेतौ लिङ्गे प्रशमने रोगाणामपुनर्भवे। किस वैद्य का लक्षण है ?
"Hetu Limgeprashamane Rogānāmapunarbhave" is the quality of which Vaidya

38 / 46

निम्न में से रोगी के गुण हैं
Which of the following is guna of Rogī

39 / 46

विज्ञाता, शासिता और योक्ता होता है
Vijnātā, Shāsitā and yoktā is

40 / 46

निम्न में से वैद्य की वृति नही है
Which of the following is not a characteristic of Vaidhya

41 / 46

निम्न में से स्मृति किसका गुण है
Which of the following is the property of Smruti

42 / 46

विकारो धातु वैषम्यम्' का सन्दर्भ
"Vikāro dhātu vaishamyam" find the correct reference

43 / 46

चतुष्पाद का विवरण दिया गया है -
Description of "Chatushpada" is given in -

44 / 46

विद्या वितर्कों विज्ञानं स्मृतिस्तत्परता क्रिया' निम्न में से किसके लक्षण हैं
"Vidhyā vitarko vijnānam smritistatparatā kriyā" is the characteristic of

45 / 46

विज्ञाता शासिता योक्ता प्रधानं ...... तु । यह किसके संदर्भ में कहा गया है ?
"Vijnāta Shāsitā Yoktā Pradhānam Tu||" is said in the context of

46 / 46

चरक सूत्र 9 अनुसार वैद्य की व्यवहारिक बुद्धि कितने प्रकार की है ?
According to Charaka sūtra 9 practical intelligence of Vaidhya is of how many tyoes

Your score is

The average score is 76%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *