Skip to content
Home » Charak Vimana Chapter 2 Trividhakukshiya Vimana

Charak Vimana Chapter 2 Trividhakukshiya Vimana

0%
1 votes, 5 avg
88

Charak Vimana Chapter 2 Trividhakukshiya Vimana

1 / 39

अलसक व विसूचिका है -
Alasaka and Visūchikā are -

2 / 39

अलसक की चिकित्सा है
What is the treatment of Alsak?

3 / 39

चिकित्सा में विरुद्ध होने के कारण असाध्य होता है
The disease is Asadhya(Uncurable) because of Resistance(Virudh)in treatment(Chikitsa)?

4 / 39

आचार्य चरक के अनुसार " शरीरं दण्ड वत स्तम्भयन्ति "लक्षण किस व्याधि मे मिलता है ?
Acc. to Acharya Charak "Sharīre Dandawata Stambhyanti" symptom is found in which disease ?

5 / 39

आचार्य चरक के अनुसार उदावर्त रोग आहार की किस मात्रा के द्वारा होता है ?
Acc. to Acharya Charak Udāvarta disease is due to which quantity of āhāra ?

6 / 39

तं द्विविधमामप्रदोषमाचक्षते है -
"Tam Dvividhamāma Pradoshamāchakshate" is -

7 / 39

आचार्य चरक के अनुसार अलसक और विसूचिका की चिकित्सा में लंघन किसका आद्य उपक्रम है ₹?
Acc. to Acharya Charak In the treatment of Alasaka and Visūchikā, langhana is the first treat of which

8 / 39

आमदोष कितने प्रकार का बताया गया है
How many types of Aam Dosha ?

9 / 39

अलसक का सही चिकित्सा उपक्रम है -
Correct sequence of treatment for Alasaka is -

10 / 39

आम दोष जन्य विकारो में यदि दूसरे अन्न काल तक भोजन का पाक ने हुआ हो तो औषदि का सेवन कैसे करना चाहिए ?
How the medicine is given in Āma Dosha Janya diseases where the previous food not digested till the next food

11 / 39

मात्रायुक्त आहार का लक्षण है
What is the Signs(Lakshan) of Matra yukt Aahara?

12 / 39

नाभि और स्तनों के बीच में कौन सा अंग रहता है
In between Nabhi and Isatana which organ is present?

13 / 39

अलसक का चिकित्साक्रम है
Sequence of treatment of Alasaka?

14 / 39

तं द्विविधम् .........प्रदोषमाचक्षते भिषज:- विसूचिकाम् अलसकं च
"Tam Dvividham........ Pradoshamāchakshate Bhishajah Visūchikām Alasakam Cha"

15 / 39

आमविषकी भयंकरता मे कारण
What is the cause of Aamvishaki Bhayankarata?

16 / 39

चरकानुसार अलसक रोग में कौन सा चिकित्सा क्रम सही है ?
According to Charaka , which is the correct order of treatment in alasaka ?

17 / 39

Types of Amadosha
Types of Amadosha?

18 / 39

आचार्य चरक के अनुसार मात्रा मे सेवन किया पथ्य आहार किन कारणों से उचित पाक को प्राप्त नही होता ?
Acc. to Acharya Charak what is the reason for improper Pāka of Pathya Āhāra consumed in limited quantity ?

19 / 39

Aahaara ki kaun si matra "sarvadoshaprakopanam" hai
Which Matra of Aahara is "Sarvadoshaprakopanama"

20 / 39

चरक में कितने प्रकार के आहार का वर्णन किया गया है ?
How many types of āhāra are mentioned by Charaka ?

21 / 39

तं द्विविधं आमदोषप्रदोषमाचक्षते भिषज: विसूचिकाम् ........... च
"Tam Dvividham Āmadoshapradoshamāchakshate Bhishajah Visūchikām........ Cha"

22 / 39

आचार्य चरक के अनुसार कुक्षि का कितना भाग वात, पित्त और कफ के लिए रखना चाहिए ?
Acc. to Acharya Charak What part of stomach should be kept for vāta, pitta and kapha ?

23 / 39

आचार्य चरक के अनुसार 80 प्रकार के वात रोगों का कारण कया है?
Acc. to Acharya Charak What is the cause of 80 types of vāta disorders ?

24 / 39

आचार्य चरक मतानुसार, आहार दृष्टि से कुक्षि के कितने भाग किये जा सकते हैं ?
According to Aahara how many parts of Kukshi can be done as per Āchārya Charaka ?

25 / 39

आचार्य चरक के अनुसार निम्नलिखित मे से कौन सा लक्षण अलसक मे नही होता ?
Acc. to Acharya Charak Which of the following symptoms is not found in Alasak?

26 / 39

कथन १ चरकानुसार अमात्रा के ३ प्रकार होते है। कथन २ चरक अनुसार कुक्षि में ३३ प्रतिशत भाग वातादि दोषों के लिए बताया गया है।
Statement 1 According to acharya charak amatra are of 3 types. Statement 2 According to charak the kukshi 's 33 percent left for vata and lother doshas.

27 / 39

आचार्य चरक के अनुसार किस प्रकार का भोजन करने वाले रोगी के आम दोष को चिकित्सक आमविष कहते है?
Acc. to Acharya Charak Which type of food having by an Āma Dosha patient, is called Āma Visha by the doctor

28 / 39

आम प्रदोषज विकार किस विधि से शांत होते हैं
Aam Pradoshaj Vikar is cured by which method?

29 / 39

विसूचिका में आद्य उपक्रम है -
Primary treatment in Visūchikā is -

30 / 39

तं द्विविधमामप्रदोषमाचक्षते' किसके लिए कहा गया है
"Tam Dwividham Aampradosham Ashchchhate"Said for which of the following?

31 / 39

आचार्य चरक के अनुसार आमाशय में गया हुआ आहार पाचन के पश्चात सम्पूर्ण शरीर को किस प्रकार प्राप्त होता है ?
Acc. to Acharya Charak Āhāra reached to Āmāshaya, is distributed to whole body before digestion by which means ?

32 / 39

आचार्य चरक के अनुसार वात प्रकोपक आहार सेवन से शरीर मे कौन से रोग उत्पन होते हैं ?
Acc. to Acharya Charak Which diseases occur due to intake of Vāta aggravating food items ?

33 / 39

आचार्य चरक के अनुसार आमविष व्याधि प्रभाव भेद से किस प्रकार की है?
Acc. to Acharya Charak , Āmavisha vyādhi according to prabhāva is ?

34 / 39

अपतर्पण द्वारा आमदोष जन्य व्याधि की शांति के बाद पुनः रोग के संबंध बनने पर उसकी चिकित्सा किस नियम अनुसार करें ?
After treating, the disease due to Āma Dosha, if the disease is again seems to happen then the treat is done as

35 / 39

आहार सेवन की अतिमात्रा से उत्पन्न प्रलाप किस दोष के कारण प्रादुर्भूत होता है
Which Dosha is resposible for the Pralaap developed by the over eating of food (Atimatra Ahaar Sewan)?

36 / 39

चरक संहता में कुक्षि के कितने भाग बतायेंहै
How many parts of Kukshi is described in Charaka Samhita?

37 / 39

Types of Amatravata Ahara
Types of Amatravata-Aahara?

38 / 39

चरक मतानुसार , लंघन किस रोग की आद्य चिकित्सा है
According to Charaka , Langhana is Aadaya -Chikitsa of which roga?

39 / 39

Parts of Kukshi ( कुक्षि )according to Charaka
Parts of Kukshi according to Charaka ?

Your score is

The average score is 77%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *