Skip to content
Home » Chēdyarōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

Chēdyarōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

0%
0 votes, 0 avg
15

15. Chēdyarōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

1 / 54

नीचे दो कथन दिए हुए है - असेरशन A - पर्वणी मे छेदन कर्म के बाद मधु और कृष्णमरिच मिलाकर प्रतिसारण किया जाता है I रिसन R - पर्वणी मे छेदन कर्म के बाद सैंधव लवण तथा मधु मिलाकर प्रतिसारण किया जाता है. उपरोक्त कथनो के आधार पर सही विकल्प का चयन करे.
Given below are two statements, one is labelled as Assertion A and the other is labelled as Reason R . Assertion A- After the Chhedana Karma of Parvani, mixture of Madhu and Krishna Maricha is used for Pratisarana.Reason R - After the Chhedana Karma of Parvani, mixture of Saindhava Lavana and Madhu is used for Pratisarana. Choose the most appropriate answer from the options given below-

2 / 54

अगर अर्म का हीन छेदन किया गया है तो उसका परिणाम होगा -
If the Arma is not completed incised then the results would be

3 / 54

अर्म की चिकित्सा में प्रयुक्त यंत्रो का निम्न में से समूह कौनसा है ?
Which of the following yantra are used in Arma chikitshā

4 / 54

अर्म चिकित्सा के सन्दर्भ में असत्य कथन है -
Which is wrong in respect to Arma treatment

5 / 54

सिराजाल के शस्त्रकर्म में निर्दिष्ट यंत्र व शस्त्र है -
Yantra and shastra indicated in shastra karma of Sirājāla is -

6 / 54

शूलहर योग का प्रयोग किस तरह करना चाहिए ?
Shūlahara yoga should be used in which way ?

7 / 54

लेखनीय चूर्ण में प्रयुक्त भस्म है -
Bhasma used for Lekhanīya chūrna

8 / 54

अर्म चिकित्सा के क्रमबद्ध उपक्रम है -
Sequence of events in the treatment of Arma

9 / 54

अर्म में शस्त्रकर्मोपरांत कौनसे स्वेद का प्रयोग करने का निर्देश मिलता है ?
Which sweda is indicated after surgical procedure in arma ?

10 / 54

वाताभिष्यंदादि दोषानुरुप लेखन द्रव्य प्रयोग किस नेत्ररोग में करना चाहिए ?
In which Netra roga, use of lekhana dravya according to Vātābhishyandādi Dosha

11 / 54

अर्म का छेदन करते समय अगर कनीनिका संधि पर भी आघात हो जाये तो उसका परिणाम हो सकता है -
What is the result of the impact on Kanīnaka sandhi, while doing Arma chhedana

12 / 54

शुक्लांतव्यापी अर्म छेदन के लिए कौनसा शस्त्र प्रयुक्त किया जाता है ?
Which Shastra is used for shuklāntavyāpi Arma Chhedana

13 / 54

अर्म छेदन की पीड़ा शमनार्थ प्रयुक्त द्रव्य है -
Dravya used for pecifying the pain of Arma

14 / 54

अश्रुनाडी किसका उपद्रव है
Ashrunādī is the complication of -

15 / 54

. सम्यक् छिन्न अर्म का लक्षण हैं ?
Symptom of samyak chinna arma is

16 / 54

पिप्पली का प्रतिसारणार्थ प्रयोग किस छेद्य नेत्ररोग में नही करना चाहिए ?
Pippalī should not be used for pratisārana purpose in which chedya disease ?

17 / 54

नाड़ीव्रण किसका उपद्रव है ?
Nādīvrana is the complication of -

18 / 54

. मण्डलाग्र शस्त्र से किसका छेदन करना चाहिए ?
Chedana of which of the following should be done with mandalāgra shastra ?

19 / 54

अर्म में शस्त्रकर्म से पूर्व नेत्र को क्षुभित करने हेतु किसका प्रयोग निर्दिष्ट है ?
In Arma before doing Shastra karma, what is used for making the eyes ideal
ed

20 / 54

अर्म में छेदनोपरान्त कितने कितने दिन दिन के अन्तराल पर बन्धन बदलना चाहिए ?
Bandage should be changed after a gap of how many days in arma after Chhedana ?

21 / 54

क्षारेणावलिखेच्चापि व्याधिशेषो भवेद्यदि किस रोग के लिए कहा गया है ?
"Kshārenāvalikhecchāpi vyādhishesho bhavedyadi" is said for which disease ?

22 / 54

शूलहर योग में सम्मिलित द्रव्य है -
Dravya included in Shūlahara yoga is -

23 / 54

वर्त्मार्बुद में विकृति का अवलंबन किससे करना चाहिए ?
In Vartamārbuda, deformity should be removed by

24 / 54

अर्म की चिकित्सा में प्रयुक्त यंत्रो व शास्त्रों का निम्न में से समूह कौनसा है ?
Group of Yantra and Shastra used for treatment of Arma are

25 / 54

अर्म में शस्त्रकर्म से पूर्व नेत्र को संरोषित करने हेतु किसका प्रयोग निर्दिष्ट है ?
What is used for Netra samroshita before Shastra karma in Arma

26 / 54

अर्म को काटते हुए कितने भाग नेत्रगोलक पर ही लगा रहने देना चाहिए
While excision of arma , how much portion of it should be kept attached to netra ?

27 / 54

छेदनीय अर्म लक्षण हैं -
What are the symptoms of chedanīya Arma

28 / 54

वर्त्मार्बुद में विकृति का अवलंबन किससे करना चाहिए ?
In Vartamārbuda, deformity should be removed by

29 / 54

कौनसा सन्धिगत रोग छेद्य है -
Which sandhigata roga is chedya ?

30 / 54

सिरापिड़का में छेदन हेतु किस शस्त्र का प्रयोग करना चाहिए ?
Which shastra should be used for chedana in sirāpidakā ?

31 / 54

प्रतिसारणार्थ यवनाल चूर्ण का प्रयोग किसमें करने का निर्देश मिलता है ?
Yavanāla chūrna is used for pratisārana purpose in which of the following ?

32 / 54

लेखनीय चूर्ण में प्रयुक्त रत्न है -
Gem used in lekhanīya chūrna
ed

33 / 54

छेदन कर्म किया जाता है -
Chhedana karma is done -

34 / 54

वर्त्माश्रय अर्श, अर्बुद का शस्त्रकर्म पश्चात कितने समय तक पथ्य आहार विहार का पालन करना चाहिए ?
After surgical treatment of vartmāshraya arsha , arbuda pathya āhāra vihāra should be followed for how much time ?

35 / 54

अर्म का कुछ भाग शेष रह जाये तो किस अंजन का प्रयोग करना चाहिए ?
If some part of Arma is left behind then which Anjana is used

36 / 54

अर्म में कौनसा चिकित्सा उपक्रम निर्दिष्ट है ?
Which chikitsa upkrma is indicated in Arma ?

37 / 54

अर्म उठाने के लिए प्रयुक्त किया जाता है -
Which is used to lift the Arma

38 / 54

अर्म को शिथिल करने के लिए किसका प्रयोग करना चाहिए ?
What should be done to neutralize the Arma

39 / 54

पर्वणी के कितने भाग को अवलंबित करना चाहिए ?
What part of parvanī should be left adhered

40 / 54

अर्म चाल्पं दधि निभमं नीलं रक्तमथापि अवस्था में अर्म की चिकित्सा होनी चाहिये -
" Arma chālpam dadhi nibham nīlam raktamathāpi " in such condition , treatment of arma should be -

41 / 54

वर्त्मार्श के शस्त्रकर्म पश्चात कितने दिन तक नियमानुसार आहार-विहार करने का निर्देश मिलता है ?
After the Shastra karma in Vartmārsha for how many days the patient is instructed for Āhāra vihāra

42 / 54

वर्त्मार्श व वर्त्मार्बुद का कोई भाग शेष रह जाये तो क्या करना चाहिए ?
What should be done if a part of Vartamārsha and Vartamārbuda remains in eyes

43 / 54

शुक्लांतव्यापी अर्म चिकित्सा है -
Treatment of shuklānavyāpī arma is -

44 / 54

पर्वणिका में चिकित्सा के पश्चात व्याधि शेष रहने पर किस अञ्जन का प्रयोग करना चाहिए ?
After the treatment of parvanikā if the disease still persists then which anjana should be advised

45 / 54

पर्वणिका के कितने भाग का छेदन करना चाहिए ?
Chedana for parvanikā should be for how many parts

46 / 54

त्र्यहान्मुक्त्वा करस्वेदं दत्त्वा शोधनमाचरेत् किस के सन्दर्भ में कहा गया है ?
"Tryahānmuktvā karasvedam dattvā shodhanamācharet" is said in context to which of the following ?
ed

47 / 54

अर्म में शस्त्रकर्म पश्चात कितने दिन बाद पट्टबन्धन से मुक्ति का निर्देश है ?
In Arma , after how many days of surgical treatment , bandage is rescued ?

48 / 54

लेख्यांजन का प्रयोग कब करना चाहिए ?
When we should use Lekhyānjana

49 / 54

अर्म छेदन पश्चात व्रणबन्धनार्थ प्रयुक्त द्रव्य है -
Dravya used for vrana bandhana after arma chedana is -

50 / 54

सभी अर्म, सिरापिड़का एवं सिराजाल में लाभदायक अञ्जन है -
Anjana beneficial in all arma , sirāpidakā and sirājāla is -

51 / 54

शूलहर योग का प्रयोग दिन में कितने बार करना चाहिए ?
For how many times in a day Shūla hara yoga can be used

52 / 54

सिरापिड़का की चिकित्सा है
Chikitsa of Sirapidika is

53 / 54

. शुक्ररोग समान चिकित्सा किस अर्म की है -
Treatment similar to shukraroga is of which arma ?

54 / 54

किस वर्ण के अर्म का उपचार शुक्रवत् करना चाहिए ?
Which colour Arma treatment should be done like shukravat

Your score is

The average score is 68%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *