Skip to content
Home » Hrdrōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

Hrdrōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

0%
0 votes, 0 avg
4

43. Hrdrōgapratiṣēdh Adhyāyaḥ

1 / 21

श्लैष्मिक हृद्रोगी को वमनोपरांत किस प्रकार का आहार दिया जाना चाहिए ?
After vaman, a patient of shleshmik hrudroga should be given which type of aahar ?

2 / 21

भुने हुए तिल के चूर्ण को दही से साथ सेवन करना किस हृद्रोग की चिकित्सा है ?
Intake of roasted til churna with dahi is the treatment of which hrudroga ?

3 / 21

सुश्रुत के अनुसार हृद्रोग की संख्या मानी गई है -
According to Sushrut, number of hrudroga is mentioned as -

4 / 21

वातिक, पैत्तिक, श्लैष्मिक एवं कृमिज हृद्रोगो मे स्नेहोपरांत सबसे पहले किन कर्मों का प्रयोग निर्दिष्ट है क्रमशः ?
After snehan , uss of which karma is indicated in vaatik, paitik, shleshmik and krumij hrudroga respectively ?

5 / 21

हृल्लास व तम: किस हृद्रोग के विशिष्ट लक्षण है ?
Hrullasa and tamah are specific symptoms of which hrudroga ?

6 / 21

सुश्रुत ने कौनसा हृद्रोग नहीं माना है ?
Sushrut has not mentioned which hrudroga ?

7 / 21

हृदयक्लम:किस हृद्रोग का लक्षण है ?
"Hrudyaklama" is the symptom of which hrudroga ?

8 / 21

कृमिज हृद्रोगो की चिकित्सा है -
Treatment of krumij hrudroga is -

9 / 21

आयम्यते, तुद्यते, निर्मथ्यते, दीर्य्यते, स्फोट्यतन व पाट्यते लक्षण किस हृद्रोग में होते है ?
Āyamyate , tudyate nirmathyate , dīryyate , sphotyatana and pātyate symptoms are present in which hrudroga ?

10 / 21

किस/किन हृदय रोग/रोगो की चिकित्सार्थ वमन कर्म निर्दिष्ट है ?
Vaman is indicated for the treatment of which hrudroga ?

11 / 21

हृद्रोग के हेतु है -
Hētu of hṛidaṛoga is?

12 / 21

हृद्रोग के किस भेद का वर्णन सुश्रुत ने नहीं किया है ?
Sushrut has not mentioned which type of hrudroga ?

13 / 21

कृमिज हृद्रोग से किन कृमियो के समान उपद्रव विशेष रूप से होते है ?
Updṛava in kṛimija hṛiḍda roga is similar to which type of kṛimi?

14 / 21

In Hrudroga, consuming milk, curds, jaggery, ghee and meat of animal from aquatic and marshy regions in indicated in -
हृद्रोग में दूध, दही, गुड़, घी और जलीय तथा दलदली क्षेत्रों के पशुओं के मांस का सेवन करने का संकेत है -

15 / 21

किस/किन् हृदय रोग/रोगों की चिकित्सार्थ वमन कर्म निर्दिष्ट है ?
Vamana therapy is indicated for the treatment of which Hrudya roga ?

16 / 21

हृद्रोगो के उपद्रव है -
Complication of hrudroga is / are -

17 / 21

निर्मथ्यते दीर्य्यते च स्फोटयते किस हृद्रोग का लक्षण है ?
"Nirmadhyate diryyate ch sphotayate" is the symptom of which hrudroga ?

18 / 21

एक हृदय रोगी को तेजी से पसीने आते है, उसका मुँह सूखता है व हृदय प्रदेश में जलने के समान तीव्र पीडा होती है तो संभवतया वो किस प्रकार के हृदय रोग से पीड़ित है ?
A patient of Hridaya roga presents with excessive sweating, dryness in mouth, burning like severe pain in hridaya pradesha is likely to suffer from which Hridaya Roga

19 / 21

सुश्रुत ने हृद्रोग का कौनसा प्रकार नहीं माना है ?
Sushrut has not mentioned which type of hridya roga ?

20 / 21

. "श्यावनेत्रत्व" किस हृद्रोग का विशिष्ट लक्षण है ?
"Shyavanetratvam" is the specific symptom of which hrudroga ?

21 / 21

हृदयक्लम:किस हृद्रोग का लक्षण है ?
"Hrudyaklama" is the symptom of which hrudroga ?

Your score is

The average score is 54%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *