Skip to content
Home » Sushrut Chikitsh visarpanāḍīstanarōgacikitsitam MCQs

Sushrut Chikitsh visarpanāḍīstanarōgacikitsitam MCQs

0%
0 votes, 0 avg
23

17. visarpanāḍīstanarōgacikitsitam

1 / 24

गौर्यादि घृत का प्रयोग किस विसर्प में किया जाता है ?
Use of Gauryaadi ghrut is done in which visarp ?

2 / 24

संशोषयेत् क्षौद्रघृतगाढैस्तिलैस्ततो रोपणमाशु कुर्यात् किस नाड़ीव्रण की चिकित्सा है ?
"Sanshoshayet kshaudraghrutagadheyastilastato ropanamashu kuryat" is the treatment of which nadivrana ?

3 / 24

नाड़ीव्रण की चिकित्सार्थ प्रयुक्त क्षारसूत्र में कौनसा बन्ध बाँधना चाहिए ?
Which type of bandha should be tied in ksharsutra for the treatment of nadivrana ?

4 / 24

पित्तज विसर्प में किस वर्ग के कषाय से परिषेक करना चाहिए ?
Parishek with kashay of which varga is done in pittaj visarp ?

5 / 24

सुश्रुतानुसार विसर्प के लिए श्रेष्ठ चिकित्सा है -
According to Sushrut, best treatment for visarp is -

6 / 24

. नाड़ीव्रण को धोने के लिए किसके क्वाथ का प्रयोग करना चाहिए ?
Whose kwātha is used to wash nādivrana ?

7 / 24

सुश्रुत संहिता में किस रोग की चिकित्सा में क्षार सूत्र का प्रयोग सम्मिलीत है ?
Kshāra sūtra is used in the treatment of which disease in Sushruta Samhitā?

8 / 24

कफज नाड़ीव्रण में व्रण प्रक्षालन के लिए किस द्रव्य के स्वरस का प्रयोग करना चाहिए ?
Swaras of which dravya should be used for vrana prakshalan in kaphaj nadivrana ?

9 / 24

सुश्रुत अनुसार सर्वविसर्पहर गण कौनसा है ?
According to Sushrut, which gana is sarvavisarpahar ?

10 / 24

सुश्रुत अनुसार शल्यज नाड़ीव्रण की साध्यासाध्यता है -
According to Sushrut, Sadhyasadhyata of shalyaj nadivrana is -

11 / 24

स्तन्यदोष की चिकित्सार्थ धात्री को कितने दिन वमन करवाना चाहिए ?
For the treatment of stanyadosh, vaman should be given to dhatri for how many days ?

12 / 24

स्तनविद्रधि में त्याज्य है -
Contraindication in stanavidradhi is -

13 / 24

ग्रहार्दिते शोषिणि चापि बाले घृतं किस घृत के सम्बन्ध में कहा गया है ?
"Grahaardite shoshoni chaapi bale ghrutam" is said in relation with which ghrut ?

14 / 24

सुश्रुत अनुसार घोण्टाफलादि वर्ति का प्रयोग किस व्याधि में करना चाहिए ?
According to Sushrut, Ghontaphaladi varti is used in which disease ?

15 / 24

अजगन्धा, अश्वगंधा, सरला आदि द्रव्यों का लेप करने से कौनसा विसर्प नष्ट होता है ?
Application of ajagandha , ashvagandha , sarala etc destroys which visarp ?

16 / 24

वातज विसर्प में किस गण को प्रदेह, सेक, घृत और तैल पाक के लिए प्रयुक्त करना चाहिए ₹?
Which gana should be used in vataj visarp for pradeha, seka, ghrut and tail pak ?

17 / 24

सुश्रुत अनुसार त्रिदोषज नाड़ीव्रण की साध्यासाध्यता है -
According to Sushrut, Sadhyasadhyata of tridoshaj nadivrana is -

18 / 24

. उपनाह के लिए घृत मिश्रित उत्कारिका का प्रयोग किस नाड़ीव्रण में करने का निर्देश है ?
In which nadivrana, for upnaha purpose utkarika mixed with ghrut is used ?

19 / 24

भल्लताकादि तैल का प्रयोग किस नाड़ीव्रण को नष्ट करता है ?
Bhallatakadi tail destroys which type of nadivrana ?

20 / 24

सुश्रुत अनुसार सन्निपातज और क्षतज विसर्प होते है
According to Sushrut, sannipataj & kshataj visarp are -

21 / 24

पित्तज नाड़ीव्रण में प्रक्षालन के लिए किस द्रव्य का प्रयोग करना चाहिए ?
Which dravya should be used for prakshalan in pittaj nadivrana ?

22 / 24

गोमांस मसी का प्रयोग किस नाड़ीव्रण में किया गया है ?
Gomaans masi is used in which nadivrana ?

23 / 24

सुश्रुत संहिता में क्षार सूत्र का प्रयोग किसके सन्दर्भ में बताया है ?
In Sushrut Samhita, use of kshar sutra is made with relation to which of the following ?

24 / 24

त्रिदोषज नाड़ीव्रण होता है
Tridoshaja Nādi Vrana is

Your score is

The average score is 75%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *