Skip to content
Home » Sushrut Chikitsha Bhagandaracikitsitam MCQs

Sushrut Chikitsha Bhagandaracikitsitam MCQs

0%
0 votes, 0 avg
26

8. bhagandaracikitsitam

1 / 36

.......... व्रणान् कुर्याद्भिषक् तु शतपोनके |
"......... vranaan kuryadbhishak tu shatponake"

2 / 36

शतपोनक छेदन आकृति कितनी है ?
Shataponaka chedana has how many shape ( ākruti ) ?

3 / 36

उष्ट्रग्रीव के सन्दर्भ में रिक्त स्थान की पूर्ति करे - " ............ दिवसे मुक्त्वा यथास्वं शोधयेद्भिषक् |"
Fill in the blank in relation to ushtragriva - "........ divse muktva yathasvam shodhedabhishak"

4 / 36

चन्द्रार्ध चन्द्रचक्रं च सूचीमुखवांगमुखम् किस भगन्दर की चिकित्सा है ?
"Chandrādha chandrachakram cha sūchīmukhavāngamukham" is the treatment of which Bhagandara ?

5 / 36

किस भगन्दर की चिकित्सा में विवृत व्रण नहीं करना चाहिए ?
Vivruta vrana should not be done in treatment of which bhagandar ?

6 / 36

लांगलक' की तरह का चीरा किस व्याधि के लिए वर्णित है
Lāmgalaka like cut is explained in which disease

7 / 36

अग्निकर्म किस भगन्दर में विहित नहीं है -
In which Bhagandara, Agnikarma is not indicated

8 / 36

शम्बुकावर्त एवं शल्य से उत्पन्न भगंदर छोड़कर शेष भगंदर है -
Except shambukavarta & bhagandar due to shalya, rest all bhagandar are -

9 / 36

सुश्रुत संहिता के अनुसार 'सूचीमुख' यह शल्य कर्म किस प्रकार के भगन्दर के लिए बताया गया है?
According to Sushrut Samhita, "Suchimukha" shalya karma is said for which type of bhagandar ?

10 / 36

शिशू में किस प्रकार भगन्दर चिकित्सा करनी चाहिए ?
What type of bhagandar treatment should be done in a child ?

11 / 36

भगन्दर में शस्त्रकर्म के कारण वेदना उत्पन्न हो तो क्या चिकित्सा करनी चाहिए ?
In treatment of bhagandar, what should be done if pain occurred due to shastra karma ?

12 / 36

. शतपोनक भगन्दर में वेदना एवं स्त्राव को रोकने हेतु कौनसा कर्म करना चाहिए ?
In shatponak bhagandar, which karma is done to stop Vedna & Strava ?

13 / 36

. सुश्रुत अनुसार आगंतुज भगन्दर में किस शलाका से अग्निकर्म करना चाहिए ?
Which Shalākā should be used for Agnikarma in Āgantuja Bhagandara according to Sushruta

14 / 36

पूतिमांसव्यपोहार्थम् ........... न पूजित: |
"Putimaansvyapohartham ........... na pujitah"

15 / 36

अग्निकर्म का निषेध है -
Agnikarma is contraindicated in -

16 / 36

. ’खर्जूरपत्र सदृश’ प्रकार का छेदन कर्म कौन से भगन्दर में करते है ?
"Khajurpatra sadrushya" chhedan karma is done in which type of bhagandar ?

17 / 36

परिस्त्रावी भगन्दर में छेदन हेतु किस आकृति का वर्णन नहीं किया गया है ?
Which Ākriti is not mentioned for Chedana in Parisrāvī Bhagandara

18 / 36

शम्बूकावर्त और क्षतज भगंदर के अलावा अन्य भगंदर होते है -
All bhagandar except shambukavarta & kshataj bhagandar are -

19 / 36

सर्वतोभद्रक भेदन किसके संदर्भ में बताया गया है ?
Sarvatobhadraka bhedana is related to which of the following ?

20 / 36

सुश्रुत मतानुसार परिस्रावी भगन्दर में चिकित्सार्थ किस प्रकार का छेदन निर्दिष्ट नहीं है ?
According to Sushruta, in paristrāvi bhagandara, which type of chhedana is not indicated ?
ed

21 / 36

भगन्दर में कितने समय तक पथ्य पालन का निर्देश किया गया है ?
Pathya pālana in Bhagandara is advised for

22 / 36

योगोSयं नाशयत्याशु गति मेघमिवानिल: किस योग के सन्दर्भ में कहा गया है ?
"Yogoayam nashayatyashu gati meghamivanilah" is said in relation to which yog ?

23 / 36

. परिस्त्रावी भगन्दर में किस तैल से गुद का सेक करे ?
In Paristravi bhagandar, seka of guda region is done with which tail ?

24 / 36

जाम्ब्वोष्ठेनाग्निवर्णेन तप्तया वा शलाकया किस भगन्दर के चिकित्सार्थ प्रयुक्त किया गया है ?
"Jambvosthenaagnivarnen taptya va shalaakaya" is used for treating which bhagandar ?

25 / 36

भगन्दर में स्यन्दन तैल का किस कार्य हेतु प्रयोग किया जाता है ?
In Bhagandar, syandan tail is used for which purpose ?

26 / 36

सुश्रुत ने स्यन्दन तैल का निर्देश किस रोग की चिकित्सा हेतु किया है ?
Sushrut has mentioned syandan tail with reference to treatment of which disease ?

27 / 36

सुकुमार एवं भीरू व्यक्ति का शतपोनक भगन्दर की साध्यासाध्यता होती है -
Sādhyāsādhyatā of Shataponaka Bhagandara of Sukumāra and Bhīru vyakti

28 / 36

सुश्रुत अनुसार, निम्न में से कौनसे द्रव्य भगन्दर शोधन हेतु प्रयोग किये जाते है? 1. दन्ती, त्रिवृत्त, अपराजित, कासीस 2. दन्ती, निम्ब, अर्क, आरग्वध 3. ज्योतिष्मती, मंगल, तिल और श्याम 4. करंज, निम्ब, जातिफल, दन्ती
According to Sushruta, which of the following medicines is used in purification of fistula-in-ano ? 1.Dantī, Trivrutta, Aparajītā, Kasīsa 2.Dantī, Nimba, Arka, Āragvadha 3.Jyotīshmatī, Mangal, Tila and Shyāmā 4.Karanja, Nimba, Jatiphala, Danti

29 / 36

अर्शयंत्र का भगन्दर में किस तरह प्रवेश कराना चाहिए ?
Arshayantra should be inserted in Bhagandara in what way

30 / 36

भगंदर रोग मे शस्त्रकर्म पश्चात परिहार काल है -
Parihāra Kāla of Shastrakarma in Bhagandara roga is -

31 / 36

किस भगन्दर मे अग्निकर्म का निषेध है ?
Agnikarma is contraindicated in which bhagandara ?

32 / 36

भगन्दर में किस गण के द्रव्यों का प्रयोग शोधन एवं रोपण के लिए हितकर है ?
In bhagandar , dravyas of which gana are beneficial in shodhan & ropan ?

33 / 36

उष्ट्रग्रीव भगन्दर में शस्त्रकर्म के पश्चात किसका लेप किया जाना चाहिए ?
What lepa should be done after Shastra karma in Ushtragrīva Bhagandara

34 / 36

भगन्दर के सन्दर्भ में रिक्त स्थान की पूर्ति करे - ".......... विधेनो उपक्रमेणो क्रमेता पक्वपिडकं |"
Fill in the blank in relation to bhagandar - "…..... vidheno upkrameno krameta pakvapidkam"

35 / 36

शतपोनक छेदन की आकृतियां कितनी हैं
Ākriti of Shatapobakaw chedana

36 / 36

निम्नलिखित में से किस एक में लांगलक छेदन कर्म किया जाता है ?
Lāmgalaka chedana karma is done in which of the following disease?

Your score is

The average score is 78%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *