Skip to content
Home » Sushrut Chikitsha kuṣṭhacikitsitam MCQs

Sushrut Chikitsha kuṣṭhacikitsitam MCQs

0%
0 votes, 0 avg
25

9. kuṣṭhacikitsitam

1 / 38

भल्लातक, हरीतकी, विडंग से सिद्ध घृत का प्रयोग किस कुष्ठ में करना चाहिए ?
Siddha ghrut of Bhallatak, haritaki, vidanga is used in which kushtha ?

2 / 38

शाययेदातपे तस्य दोषा गच्छन्ति सर्वशः किस तैल के सन्दर्भ में कहा गया है ?
"Shaayayedatape taysa dosha gachhanti sarvashah" is said in relation to which tail ?

3 / 38

सुश्रुत अनुसार मेदगत कुष्ठ की साध्यसाध्यता होती है -
According to Sushrut, Sadhyasadhyata of medagat kushtha is -

4 / 38

सुश्रुत के अनुसार कुष्ठ में कितने दिनों के अंतराल के बाद विरेचन देना चाहिए ?
According to Sushrut, in kushtha virechan should be given after a gap of how many days ?

5 / 38

निम्न में से दद्रु नाशक लेप कौनसा है ?
Which of the following lepa destroys Dadru ?

6 / 38

मेषश्रृंगी, श्वदंष्ट्रा, गुडूची आदि द्रव्यों से सिद्ध तैल या घृत का प्रयोग किस दोषज कुष्ठ में करना चाहिए ?
Siddha ghrut or tail of meshshrungi, shvadanstra, guduchi etc is used in which doshaj kushtha ?

7 / 38

सुश्रुतानुसार महानील घृत किसका नाश करता है ?
According to Sushrut, Mahaneela ghrut destroys which of the following ?

8 / 38

तत्र पूर्वरूपेषूभयत: संशोधनामासेवेत' किसकी चिकित्सा है ?
"Tatra purvarupeshubhayatah sanshodhanamaseveta" is the treatment of ?

9 / 38

. 'तुत्थादि लेप' का प्रयोग किसकी चिकित्सा में निर्दिष्ट है ?
Use of "tutathadi lepa" is done in treatment of ?

10 / 38

कुष्ठ में नस्य कितने अन्तर पर करवाना चाहिए ?
Nasya in kushtha should be done in gap of how many days?

11 / 38

सुश्रुत अनुसार कुष्ठ में सबसे अधिक बार प्रयुक्त शोधन कर्म है -
According to Chakrapni , shodhan karma which is used maximum time in kushtha is -

12 / 38

क्तगत कुष्ठ की चिकित्सा है -
Treatment of raktagat kushtha is -

13 / 38

किस प्रकार के कुष्ठ में तुवरक तैल एवं भल्लातक तैल का प्रयोग करना चाहिए ?
Use of Bhallatak tail & tuvarak tail should be done in which type of kushtha ?

14 / 38

सूची-I को सूची -II के साथ सुमेलित कर और नीचे दिये गए कूट का प्रयोग करते हुए सही उत्तर चुनिए - A] वमन 1]. तीन दिन B]. विरेचन 2]. सात दिन C]. रक्तमोक्षण 3].पन्द्रह दिन D]. नस्य 4] एक माह 5] वर्ष में दो बार
Match List-I with List-II and select the correct answer using the codes given below. A] Vamana 1] Three days B] Virechana 2] Seven days C] Raktamokshana 3] Fifteen days D] Nasya 4] One Month 5] Twice in a year
ed

15 / 38

सुश्रुतानुसार संशोधन, आलेपन, कषायपान एवं शोणितावसेचन का प्रयोग किस कुष्ठ की चिकित्सा में किया जाता है ?
According to Sushruta, Samshodhana , Ālepana, Kashāyapāna and Shonita avasechana are used in treatment of which Kushtha ?

16 / 38

अप्यसाध्यं नृणां नाम्ना ......... नियच्छति।
"Apyasadhyam nrunam namna .......... niyachchhati"

17 / 38

कुष्ठ में रक्तमोक्षण कितने दिन के अंतराल पर करना चाहिए
In the gap of how many days raktamokshana should be done in kushtha

18 / 38

भल्लातक, गुग्गुलु, स्वर्णमाक्षिक, शिलाजतु आदि का सेवन किस धातुगत कुष्ठ में करना चाहिए ?
Intake of Bhallatak, guggulu, swarnamakshika, shilajtu etc should be done in which dhatugat kushtha ?

19 / 38

कुष्ठ व्याधि में नस्य कितने दिनों के अंतराल में करे ?
In kushtha , nasya should be done after a gap of how many days ?

20 / 38

कुष्ठ की किस धातुगत अवस्था में शोधन द्रव्यों का लेप करना चाहिए ?
Lep of shodhan dravya is used in which dhatugat kushtha ?

21 / 38

ऊंटनी के मूत्र का कितने समय तक प्रयोग करने से कृमियुक्त कुष्ठ का नाश हो जाता है ?
Use of camel urine for how many days destroys krimi kushtha ?

22 / 38

सुश्रुत अनुसार अरिष्टपान का प्रयोग कुष्ठ की किस धातुगत अवस्था में करे ?
According to Sushrut,use of arishtapan is done in which dhatugat kushtha ?

23 / 38

कुष्ठ व्याधि में विरेचन कितने दिनों के अंतराल में करे ?
In kushtha , virechan should be done after gap of how many days ?

24 / 38

सुश्रुत अनुसार महातिक्तक घृत का रोगाधिकार है -
According to Sushrut, rogadhikar of Maha tikta ghrut is -

25 / 38

कुष्ठ में खदिर का प्रयोग करना चाहिए -
In kushtha , Khadir used be used as -

26 / 38

सुश्रुत के अनुसार महानील घृत नाश करता है-
According to Sushrut, Mahaneel ghrut destroys -

27 / 38

कृष्ण सर्प की मसि को बिभितक तैल के साथ मिलाकर लेप लगाने से किस रोग की शान्ति होती है ?
Krushna sarpamasi mixed with bibhitak tail is used as lepa for suppressing which disease ?

28 / 38

अस्थिगत कुष्ठ की साध्यासाध्यता है -
Sadhyasadhyata of asthigat kushtha is -

29 / 38

सुश्रुत अनुसार तिक्तक घृत का उपयोग किस/किन् रोगों में निर्दिष्ट है ?
According to Sushruta, use of Tiktaka Ghruta is indicated in which disease ?

30 / 38

सुश्रुत के अनुसार कुष्ट में रक्तमोक्षण वर्ष में कितनी बार कराना चाहिए ?
According to Sushrut, raktmokshan in kushtha should be done how many times in a year ?

31 / 38

सुश्रुत अनुसार कुष्ठ रोग में किस गण के कषाय का प्रयोग उत्सादन के लिए करना चाहिए ?
According to Sushrut, in kushtha kashay of which gana is used for utsadan ?

32 / 38

कुष्ठ व्याधि में कितने दिन के अंतराल में वमन कर्म करने का निर्देश है ?
In kushtha, after how many days of gap , vaman karma is done ?

33 / 38

दाहयुक्त कुष्ठ वाले व्यक्ति को किस द्रव्य के क्वाथ से स्नान कराना चाहिए ?
A person having kushtha with daha should take bath with kwath of which dravya ?

34 / 38

तत्र प्रथमेव कुष्ठिनं .......... विधानेनोपपादयेत् |
"Tatra prathamev kushthinam ........... vidhanenopapaadyet"

35 / 38

निम्नलिखित व्याधियों में से किस एक व्याधि में सम्पूर्ण पंचकर्म चिकित्सा का प्रयोग किया जाता है ?
In which one of the following disease entire panchakarma treatment is done ?

36 / 38

कुष्ठ में अभ्यङ्गार्थ किस तैल का प्रयोग किया जाता है ?
In kushtha , which tail is used for abhyang purpose ?

37 / 38

कुष्ठ रोग में अपथ्य है -
Unhealthy in kushtha roga is -

38 / 38

सुश्रुत ने कृमियुक्त कुष्ठ में विशेष रूप से किसका मूत्र पान का निर्देश किया है ?
According to Sushrut, in krimi kushtha, mainly intake of whose urine is advised ?

Your score is

The average score is 78%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *