Skip to content
Home » Sushrut Chikitsha udaracikitsitam MCQs

Sushrut Chikitsha udaracikitsitam MCQs

0%
0 votes, 0 avg
26

14. udaracikitsitam

1 / 34

जलोदर शस्त्रकर्म के पश्चात कितने समय तक रोगी को क्षीर एवं जांगल मांसरस का सेवन करवाना चाहिए ?
How long should the patient should consume Kshira and Jangala Mansa rasa after Jalōdara shastrakarma?

2 / 34

सुश्रुत अनुसार प्लीहोदर में अग्निकर्म किस स्थान पर किया जाना चाहिए ?
According to Sushrut, in plihodar agnikarma should be done in which region ?

3 / 34

सुश्रुत अनुसार आनाहवर्ति निर्माण के लिए किस गण के द्रव्यों का प्रयोग किया जाता है ?
According to Sushrut, for formation of aanahvarti, dravyas of which gana are used ?

4 / 34

सुश्रुत के अनुसार उदररोगी में भैंस के मूत्र को दुग्ध के साथ कितने समय तक सेवन करना चाहिये ?
According to Sushruta , urine of buffalo is used with milk for what time duration in the patients of udara ?

5 / 34

कफोदर में अनुलोमन हेतु किसका प्रयोग करना चाहिए ?
In kaphodar, which of the following is used for anuloman ?

6 / 34

सुश्रुत के अनुसार जलोदर की चिकित्सा के पश्चात रोगी कितने समय बाद रोगरहित हो जाता है
According to Sushruta , after the treatment of jalodara , patient completely gets relieved from symptoms after how much time duration ?

7 / 34

सुश्रुतानुसार श्लेष्मोदर क़ी चिकित्सा है -
According to Sushrut, treatment of shleshmodar is -

8 / 34

सुश्रुत के अनुसार प्लीहोदर में किस प्रदेश की सिरा का वेधन करना चाहिये ?
According to Sushrut, in plihodar siravedhan should be done of which region ?

9 / 34

जलोदर की चिकित्सा में वेधन के लिए प्रयुक्त शस्त्र है -
Which shastra is used for vedhan in the treatment of jalodar ?

10 / 34

. सुश्रुत अनुसार उदररोग की चिकित्सार्थ स्नुहीक्षीर में भावित की गई कितनी पिप्पली का सेवन करना चाहिए ?
According to Sushruta, in the treatment of udararoga , how many pippalī bhāvita in snuhīkshīra should be used ?

11 / 34

सुश्रुत अनुसार आनाहवर्तिक्रिया का प्रयोग किस उदावर्त में किया जाता है ?
According to Sushrut, use of aanahavartikriya should be done in which Udavarta ?

12 / 34

सुश्रुतानुसार उदररोगो में अनेक बार कौन सी चिकित्सा उत्तम है ?
According to Sushrut, which treatment is considered best in udararoga many times ?

13 / 34

जलोदर में शस्र कर्म के पश्चात कितने समय तक हितकर लघु अन्न का प्रयोग करना चाहिए
After surgical treatment , use of beneficial laghu anna should be done for how long ?

14 / 34

मूलविष व कन्दविष का सेवन किस व्याधि में बताया गया है ?
Intake of moolavish & kandavish is said in which disease ?

15 / 34

विदारिगन्धादि सिद्ध घृत का प्रयोग निर्दिष्ट है -
Use of vidarigandhadi siddha ghrut should be done in -

16 / 34

कृष्णसर्पेण दंशयित्वा भक्षयेद् वल्लीफलानि वा किस उदररोग की चिकित्सार्थ वर्णीत किया है ?
"Krushnasarpen danshyitva bhakshyed vallifalani va" is mentioned in treatment of which udararoga ?

17 / 34

सुश्रुत अनुसार दकोदर में वेधन प्रमाण है -
Vedhana Pramana for dakodara according to Sushruta

18 / 34

कफोदर की चिकित्सार्थ किस गण के द्रव्यों की आस्थापन एवं अनुवासन बस्ति का प्रयोग किया जाता है ?
Dravyas of which gana are used for aasthapan & anuvasan basti in the treatment of kaphodar ?

19 / 34

सुश्रुत के अनुसार परिस्रावी उदररोग की साध्यसाध्यता है -
According to Sushrut, Sadhyasadhyata of paristravi udararoga is -

20 / 34

बहुशस्त्वनुलोमनम्' संदर्भ है -
"Bahushastavnulomanam" is referred as -

21 / 34

सुश्रुत के अनुसार प्लीहोदर है
According to Sushrut, plihodar is -

22 / 34

सुश्रुत अनुसार उदररोगी को कितने समय तक अन्न व जल त्यागकर उष्ट्रक्षीर का सेवन करना चाहिए ?
For how much time udararogī must avoid food and water and only advised to have milk of camel

23 / 34

पित्तोदर की चिकित्सार्थ किस गण के द्रव्यों की आस्थापन एवं अनुवासन बस्ति का प्रयोग किया जाता है ?
In treatment of pittodar, use of aasthapan & anuvasan basti is done from dravyas of which gana ?

24 / 34

सुश्रुत अनुसार सन्निपातज उदररोग की साध्यासाध्यता है -
According to Sushrut,, Sadhyasadhyata of Sannipataj udararoga is -

25 / 34

उदरपाटन निर्दिष्ट है -
Udarapātana is indicated in -

26 / 34

अधिक समय व्यतीत होने पर सभी उदररोग हो जाते है -
After a long duration of time , all udararoga becomes -

27 / 34

. सुश्रुत के अनुसार बद्धगुदोदर की साध्यासाध्यता है -
According to Sushrut, Sadhyasadhyata of baddhagododar is -

28 / 34

पित्तोदर में अनुलोमन हेतु किसका प्रयोग करना चाहिए ?
In pittodar, for anuloman which of the following is used ?

29 / 34

सुश्रुत अनुसार बद्धगुद एवं परिस्त्रावी उदर में आन्त्र को कितने अंगुल बाहर निकालकर परीक्षा करनी चाहिए ?
According to Sushrut, in baddhagud & paristravi udara, aantra should be taken out how much angul & examined ?

30 / 34

सुश्रुत अनुसार "स्निग्धस्विन्नस्य दध्ना भुक्तवतो" किस उदररोग की चिकित्सार्थ कहा गया है ?
According to Sushrut, "Snigdhaswinnasya dadhna bhuktavato" is said for treatment of which udararoga ?

31 / 34

जलोदर में शस्त्र कर्म के पश्चात् कितने समय तक आधा जल मिले हुए दूध,खट्टे फलों के रस का सेवन करने का विधान है
In jalodara, after Shastra karma, for how much time half water with half milk and sour fruits juice is advised

32 / 34

सुश्रुत अनुसार उदररोग में मन्दाग्नि वाले रोगी के लिए किस योग का प्रयोग करना चाहिए ?
According to Sushrut, in Udararoga, a person suffering from mandagni should be given which yog ?

33 / 34

सुश्रुत अनुसार आनाहवर्ति का रोगाधिकार है -
According to Sushrut, rogadhikar of aanahvarti is -

34 / 34

आचार्य सुश्रुत के अनुसार "पिपिलिका सीवन" किस व्याधि में निर्दिष्ट है ?
According to Sushrut, "pipplila seevan" is indicated in which disease ?

Your score is

The average score is 74%

0%

Exit

Please click the stars to rate the quiz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *